Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रामलीला मैदान में लगे पोस्टर, उरी का बदला लेने वाले मोदी का स्वागत

लखनऊ में पीएम मोदी के दशहरे पर सियासत तेज हो गई है।

रामलीला मैदान में लगे पोस्टर, उरी का बदला लेने वाले मोदी का स्वागत
लखनऊ. लखनऊ में पीएम मोदी के दशहरे पर सियासत तेज हो गई है। सीएम अखिलेश यादव ने तंज किया है कि अगर चुनाव बिहार में होते तो मोदी बिहार में दशहरा मनाते। रामलीला मैदान के बाहर आयोजकों ने होर्डिंग लगा दी है जिसमें लिखा है कि 'उरी का बदला लेने वाले मोदी का स्वागत है।' लेकिन बीजेपी उपाध्यक्ष और लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि ये सिर्फ धार्मिक सांस्कृतिक आयोजन है, इसमें कोई राजनीति नहीं।
शहीदों पर सियासत
पहले बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि उरी के शहीदों की चिता अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि मोदी उसपर सियासत करने लगे। पहले दशहरे में जा रहे हैं फिर हो सकता है दिवाली में भी जाएं। आज तंज करने की बारी अखिलेश की थी। उन्होंने कहा, 'चुनाव बिहार में होता तो शायद बिहार में रावण जलता। वहां पर लोग जाते। चुनाव है। मैं समझता हूं कि रामलीला और इन त्योहारों को तो दूर ही रखना चाहिए।' रामलीला मैदान के बाहर रामलीला समिति की तरफ से होर्डिंग लग गई हैं जिनमें उरी का बदला लेने के लिए मोदी के स्वागत का ऐलान किया गया है। लेकिन मैदान के अंदर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने कहा कि इसमें कोई सियासत नहीं।
रामलीला में मोदी को उपहार
चुनाव की वजह से रावण वध तो टाला नहीं जा सकता और दशहरा भी चुनाव तक रोका नहीं जा सकता। रामलीला में मोदी को कृष्ण का सुदर्शन चक्र, हनुमान की गदा और राम का धनुष-बाण उपहार में दिया जाएगा। उनके सामने ही राम रावण का वध करेंगे। लेकिन आतंकवाद के नाम पर बना विशाल रावण सुरक्षा कारणों से उनके जाने के बाद जलेगा। चूंकी रावण के जलने पर आतिशबाजी होती है, और रामलीला मैदान काफी छोटा है, इसलिए पीएम की मौजूदगी में आतिशबाजी की इजाजत नहीं मिली है, इसलिए मोदी के जाने के बाद रावण जलाया जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top