Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आठ मिनट की ''कूटनीतिक कॉल'', कश्मीर मुद्दों सहित सीमा सुरक्षा पर हुई बात

काठमांडू में पिछले साल नवंबर में हुई सार्क बैठक के बाद उफा में दोनों प्रधानमंत्रियों के लिए मुलाकात का यह पहला मौका था।

आठ मिनट की

नई दिल्ली. आठ मिनट की एक बातचीत से चीजें किस कदर बदल जाती हैं, इसका अंदाजा रूस के उफा में भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की मुलाकात से लगाया जा सकता है। एक अंग्रेजी अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक जून के मध्य पाकिस्तान में घरेलू मोर्चे पर सियासी मुश्किलों से जूझ रहे प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 16 जून की शाम यह बताया गया कि भारत से पीएम मोदी उनसे बात करना चाहते हैं। मोदी ने उनसे बात कर रमजान के पवित्र महीने के लिए उन्हें शुभकामानएं दीं।

मोदी की पाक यात्रा से ज्यादा अपेक्षा न करेंः सलमान खुर्शीद

इस दौरान दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच आठ मिनट की कॉल हुई। यह टेलिफोन कॉल मोदी के इन शब्दों के साथ खत्म हुई,'आशा करता हूं कि हमारी जल्दी भेंट होगी।' इस पर नवाज शरीफ का जवाब था, 'इंशा अल्लाह जरूर मुलाकात होगी।' दोनों को यह बात पता थी कि वे उफा में एससीओ की मीटिंग में शरीक होने जा रहे हैं। काठमांडू में पिछले साल नवंबर में हुई सार्क बैठक के बाद उफा में दोनों प्रधानमंत्रियों के लिए मुलाकात का यह पहला मौका था। सूत्रों का कहना है कि विदेश सचिव एस जयशंकर ने रमजान शुरू होने के बाद मोदी नवाज की बातचीत के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए पाकिस्तान के हाईकमिश्नर अब्दुल बासित से मुलाकात की।

मांझी ने एनडीए के सामने रखी शर्त, सम्मानजनक संख्या में मांगी सीटें

मुलाकात का मक्सद था कि इस सिलसिले को किस तरीके से आगे बढ़ाया जाए। इस प्रक्रिया में दोनों देशों के उच्चायोगों ने अपने-अपने यहां के विदेश विभाग से संपर्क बनाए रखा। इस बीच एनएसए चीफ अजीत डोभाल की पाकिस्तानी उच्चायोग और पाकिस्तान में भारतीय हाई कमिश्नर राघवन ने पाकिस्तान के एनएसए सरताज अजीज से डायलॉग चैनल खोल रखे थे।इसी दौरान कश्मीर में भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को पता चला कि बासित ने हुर्रियत नेताओं को चार जुलाई की इफ्तार के लिए दावत दे रखी थी। पाकिस्तान इस सालाना जलसे पर जाने-माने मुसलमानों को दावत देता रहा है।

4 साल की मासूम बच्ची से डिलीवरी ब्वॉय ने की छेड़छाड़, आया था पिज्जा डिलीवर करने

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top