Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दुनिया ने माना भारतीय सेना का लोहा: PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे रक्षा मंत्री भी सेना की तरह बोलते नहीं हैं।

दुनिया ने माना भारतीय सेना का लोहा: PM मोदी
भोपाल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शौर्य स्मारक का उद्घाटन किया। पीएम मोदी ने स्मारक से सेना, रक्षा मंत्री, ओआरओपी और सर्जिकल स्ट्राइल को लेकर कई बातें कही। बता दें कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद मोदी का यह पहला दौरा है जब उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर खुलकर बात कही है।
सबसे पहले पीएम मोदी ने सेना पर पत्थरबाजी के मामले पर कहा कि सेना के जवान कभी नहीं सोचते कि जिनकी हम रक्षा करते हैं, वो हम पर पत्थर फेंकते हैं। उन्होने कहा कि मेरी सेना की मानवता सोचिए, वो कभी नहीं सोचते कि उन पर पत्थर फेंके जा रहे हैं। आतंकवाद पर चर्चा करते हुए कहा कि आतंकवाद आज पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। आतंकवाद ने भयंकर रुप ले लिया है। सेना ने हजारों लोगों को यमन से बचाकर लेकर आए थे।
पीएम मोदी ने कहा कि पश्चिम एशिया बूरी तरीके से आतंकवाद से घिर चुका है। उन्होने कहा कि किसी देश को हड़पने के लिए युद्घध नहीं किया जाता है। उन्होने कहा कि मेरे देश के जवानों को हमारी देश की जनता की नींद से खुशी मिलती है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश की सेना की सबसे बड़ी ताकत होती है। उनका मनोबल, हथियारों से नहीं आता है। हमारे सोने से सेना को शिकायत नहीं होती है। लेकिन कई बार हम जागने के वक्त भी सोते रह जाते हैं। सेना बोलते नहीं, पराक्रम दिखाती है। और हमारे रक्षा मंत्री भी सेना की तरह कम बोलते हैं।
पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि शौर्य स्मारक हमारे लिए प्रेरणा का मंदिर है। उन्होने कहा कि हमने सेना से किया OROP का वादा पूरा किया। हवलदार को पहले 4 हजार 90 रुपये मिलते थे, अब सात हजार छ सौ रुपये दिए जा रहे हैं। '50 हजार पूर्व फौजियों की नौकरी का प्रबंध कर रहे हैं। जो फौज से रिटायर कर रहा होता है तो आखिरी साल उसे स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के बाद सर्टिफिकेट दिया जाता है। पहली बार भारत सरकार ने रिटायर होने वाले फौजियों को आखिर साल में ट्रेनिंग सर्टिफिकेट देने का प्रबंध किया है।'
रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर भोपाल में शैन्य स्मारक का उद्घाटन करने पहुंचे। वहां पर्रिकर ने एक बार फिर देश के जवानों की पीठ थपथपाई। उन्होने कहा कि आज भारत के शौर्य और पराक्रम को पूरी दुनिया देख रही है। मनोहर पर्रिकर ने कहा कि 29 सितंबर को भारतीय जवानों की पहल ने शौर्य और पराक्रम की एक और गाथा लिख दी। उन्होने कहा हमारी सेना के दमखम से पूरी दुनिया वाकिफ हो चुकी है। इस मौके पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि शहीदों का पूरा देश कर्जदार है। उन्होने कहा कि भोपाल में स्मारक सेनिकों के सम्मान के लिए बनाया गया है। उन्होने कहा कि सरहद पर खड़े जवानों की वजह से हम रातों को चैन से सो पाते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top