Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

LoC सीजफायरः मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, फिर बनी रणनीति

इस मीटिंग में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर मौजूद रहे

LoC सीजफायरः मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, फिर बनी रणनीति
नई दिल्ली. उरी अटैके के बाद भारत के सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाई पाकिस्तानी रेंजर्स लगातार कई दिनों से सीमा पर लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन किए जा रही है। लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर बढ़ते तनाव को देखते हुए प्रधानमंत्री ने बुधवार को एक हाई लेवल मीटिंग बुलाई। इसमें सुरक्षा से जुड़े हालात पर समीक्षा की गई।
इस मीटिंग में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर मौजूद रहे। जानकारी के मुताबिक इस मीटिंग में पाक को करारा जवाब देने की रणनीति बनाई गई है।
घाटी के 27 स्कूलों को किया गया खाक
सीमापार से हो रही फायरिंग के बीच में घाटी में छूपे आतंकी लगातार स्कूलों में आग लगाकर बर्बाद किए जा रहे हैं। आतंकियों को इस काम में घाटी के अलगाववादी नेताओं का समर्थन मिला रहा है। इस घटना को लेकर भी केंद्रीय सरकार ने चर्चा की।
आम लोग गंवा रहे हैं जान
सीजफायर उल्लंघन की वजह से सीमा से सटे गांवों में कई आम लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है। सैन्य टकराव की वजह से हो रहे आम लोगों के जान-माल के नुकसान की वजह से केंद्र सरकार बेहद चिंतित है।
सीजफायर के लिए पाक ने बताया भारत को दोषी
सीजफायर तोड़ने को लेकर पाकिस्तान भारत पर ही दोष मढ़ रहा है। मंगलवार को पाकिस्तान ने भारतीय उप उच्चायुक्त को तलब किया और विरोध दर्ज कराया। एक सप्ताह में भारतीय उप उच्चायुक्त को चौथी बार तलब किया गया है।
पाकिस्तानी विदेश विभाग ने एक बयान में कहा, ‘महानिदेशक (दक्षिण एशिया और दक्षेस) मोहम्मद फैसल ने भारतीय उप उच्चायुक्त जेपी सिंह को तलब किया और 31 अक्तूबर को निकिआल और जनद्रोत सेक्टरों में भारतीय सुरक्षा बलों की ओर से किए गए संघर्ष विराम के अकारण उल्लंघन की कड़ी निंदा की।’ बयान में कहा गया है कि भारतीय सुरक्षा बलों की गोलीबारी में एक महिला सहित छह नागरिक मारे गए और आठ घायल हो गए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top