Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यमवर्ग और निम्न मध्यमवर्ग को चुनाव से पहले मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, मिलेगी ये सौगात

लोकसभा चुनाव से पहले मध्यवर्ग और निम्न मध्यमवर्ग को लुभाने के लिए मोदी सरकार एक बड़ा तोहफा देने की तैयारी कर रही है।

मध्यमवर्ग और निम्न मध्यमवर्ग को चुनाव से पहले मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, मिलेगी ये सौगात

लोकसभा चुनाव से पहले मध्यवर्ग और निम्न मध्यमवर्ग को लुभाने के लिए मोदी सरकार एक बड़ा तोहफा देने की तैयारी कर रही है। सरकार लोगों ये तोह्फा नौकरी पेशा लोगों के प्रोविडेंट फण्ड, सुकन्या समृद्धि योजना, किसान विकास पत्र, एनएससी और कम अवधि वाले डिपाजिट स्कीम में के जरिये देगी।

सरकार ने इसके लिए पोस्‍ट ऑफिस डिपॉजिट और राष्‍ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) जैसी छोटी बचत योजनाओं एवं पब्लिक प्रोविडेंट फंड, तथा सुकन्‍या समृद्धि योजना ब्‍याज के ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। जानकारी के मुताबिक इन योजनाओं पर ये बढ़ी हुई ब्याज दर 1 अक्‍टूबर 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक के लिए प्रभावी लागू रहेगी।

इसे भी पढ़ें- पटना के स्कूल में पांचवीं की बच्ची से नौ महीने तक हुआ रेप, दो गिरफ्तार

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी एक सर्कुलर के मुताबिक, अलग-अलग बजत योजना की ब्याज दर में 0.30 से लेकर 0.40 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसके साथ ही दूसरी योजनाओं की पांच साल के टाइम डिपॉजिट, सुकन्या समृर्धी योजना के साथ पीपीएफ की दरों में 0.40 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

पांच वर्ष की सावधि जमा, आवर्ती जमा के साथ वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के ब्याज को 7.8 प्रतिशत से बढ़ा कर 8.7 प्रतिशत तक कर दिया है, लेकिन बचत जमा के लिए ब्याज के दर को चार प्रतिशत तक रखा है।

इसे भी पढ़ें- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कांग्रेस और बीजेपी को दी नसीहस, पूछा ये एक सवाल

पीपीएफ और एनएससी पर अब तक 7.6 प्रतिशत दर थी और अब लोगों को 8 प्रतिशत तक की सालाना दर पर ब्याज दिया जाएगा। किसान विकास पत्र पर वित्त मंत्रालय ने 7.7 प्रतिशत के दर पर ब्याज देगा और अब यह 112 सप्ताह में मैच्योर हो जाएगा।

सुकन्या समृर्धी के अकाउंट के लिए वित्त मंत्रालय ने 8.5 प्रतिशत का ब्याज देगा और इसक साथ ही एक से तीन साल के लिए जमा राशि पर 0.3 प्रतिशत की ब्याज में इजाफा हुआ है।

Next Story
Top