Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमेरिका को थैंक्यू बोल स्वदेश पहुंचे पीएम मोदी, पांच दिन की यात्रा में हुए कई अहम समझौते

दोनों देश आपसी रिश्तों को लंबे समय के संबंध के तौर पर देख रहे हैं

अमेरिका को थैंक्यू बोल स्वदेश पहुंचे पीएम मोदी, पांच दिन की यात्रा में हुए कई अहम समझौते
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की पांच दिन की यात्रा के बाद आज रात राजधानी वापस आ गए। मोदी अपनी अमेरिका यात्रा समाप्त होने के साथ कल वाशिंगटन से रवाना हुए थे और फ्रेंकफुर्त में थोड़े समय ठहरने के बाद एयर इंडिया के विशेष विमान से स्वदेश लौटे। रवानगी से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका को धन्यवाद कहा और 5 दिनों के दौरे को पूरी तरह सफल बताया। वापसी के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर अमेरिका का धन्यवाद किया। मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, धन्यवाद अमेरिका, सफल दौरे के बाद वतन वापस जा रहा हूं।
दोनों देश आपसी रिश्तों को लंबे समय के संबंध के तौर पर देख रहे हैं। मादी अमेरिका के साथ इस यात्रा से कई अहम समझौते कर लौट रहे हैं, जिनमें रक्षा संबंध को मजबूत बनाने के साथ आतंवाद के खिलाफ संयुक्त रणनीति, वित्तीय निवेश और शहरी अधोसंरचना के विकास से संबंधित पहले हैं। मोदी की अगवानी करने के लिए केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और कुछ अन्य मंत्री पालम टेक्निकल एरिया में मौजूद थे। सामान्य तौर पर प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं के लिए रवानगी या उनके लौटने पर इस तरह मंत्रियों को उनकी अगवानी करने की परंपरा नहीं रही है। मोदी ने पांच दिन के अपने व्यस्त कार्यक्रम में भारत को निवेश के लिहाज से आकर्षक स्थान के तौर पर पेश किया।
पीआईओ कार्डधारी को आजीवन वीजा सुविधा
अमेरिका के मेडिसन स्क्वायर गार्डन की रैली में भारतीय मूल के लोगों (पीआईओ) के लिए रियायतों की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के कुछ ही दिन बाद सरकार ने अधिसूचित किया है कि पीआईओ कार्ड धारकों को भारत आने के लिए आजीवन वीजा मिलेगा। पीआईओ कार्ड धारकों को प्रवास के दौरान पुलिस में रिपोर्ट करने से भी छूट दी गई है, चाहे उनके प्रवास का काल जो भी हो। गृहमंत्रालय से जारी राजपत्रीय अधिसूचना में कहा गया है कि किसी आवेदक को पीआईओ कार्ड जारी होने की तारीख से वह उसके जीवन काल तक के लिए वैध होगा बशर्ते आवेदक के पास कोई वैध पासपोर्ट हो।
इससे पहले भारतीय मूल के लोगों के पास पीआईओ कार्ड था जिसकी वैधता भारत में वीजा-मुक्त प्रवेश के लिए सिर्फ 15 साल की थी। वे इसे एक साथ 10 साल के लिए बढ़ा सकते थे। इसके अलावा, पीआईओ कार्ड धारक अगर भारत में 180 दिन से ज्यादा प्रवास करते तो उन्हें संबंधित विदेशी क्षेत्रीय पंजीकरण अधिकारी या विदेशी पंजीकरण अधिकारी के समक्ष खुद को पंजीकृत करना होता था। मोदी ने न्यूयार्क में घोषणा की थी कि इस प्रावधान को खत्म किया जाएगा।
नीचे की स्लाइड में पढ़िए, पीएम स्वदेश वापस -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top