Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मोदी ने बाप-बेटे पर किया करारा प्रहार, विपक्षियों को चुभेंगी ये 10 बातें

नोटबंदी के 50 दिन बाद पहली बार बोले पीएम मोदी।

मोदी ने बाप-बेटे पर किया करारा प्रहार, विपक्षियों को चुभेंगी ये 10 बातें
X

लखनऊ. नए साल और नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतनी बड़ी सभा को संबोधित की है। प्रधानमंत्री मोदी के मंच पर पहुंचते ही लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। पीएम मोदी लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में होने वाली बीजेपी की परिवर्तन रैली में विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए समाजवादी परिवार में चल रही उठा-पटक के बीच साल 2017 की पहली रैली की, इस रैली से यूपी का सियासी पारा और चढ़ने की उम्मीद है।

पीएम मोदी तीसरी बार लखनऊ में
प्रधानमंत्री को वक्त नहीं मिलने के कारण सोमवार को उनकी रैली का कार्यक्रम रखा गया। प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी तीसरी बार लखनऊ में आएं हैं। इससे पहले वह यहां अम्बेडकर विश्वविद्यालय के समारोह और ऐशबाग रामलीला कार्यक्रम में आ चुके हैं। हालांकि बहराइच की रैली में हवाई जहाज नहीं उतरने के कारण उन्होंने लखनऊ से ही मोबाइल के जरिए जनता को सम्बोधित किया था।
मंच पर बीजेपी के कई बड़े नेता भी मौजूद
पीएम के साथ मंच पर बीजेपी के कई बड़े नेता भी मौजूद थे। जिसमें राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, उमा भारती, कलराज मिश्र सहित यूपी कोटे के सभी मंत्रियों के अलावा कई और दिग्गज मौजूद थे। संगठन से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी प्रभारी ओम माथुर और प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य भी मंच पर उपस्थित थे।
पीएम मोदी ने कांग्रेस-बीएसपी-एसपी पर निशाना साधते हुए बोलीं ये बातें...

प्रधानसेवक के रूप में आपकी सेवा करने का अवसर मिला
मैं कई वर्षों से राजनीति में हूं। भारतीय जनता पार्टी में राष्ट्रीय स्तर पर संगठन का कार्य मिला। मुख्यमंत्री के रूप में काम करने का अवसर मिला। प्रधानसेवक के रूप में आपकी सेवा करने का अवसर मिला लेकिन इतने सालों में इतनी बड़ी रैली का संबोधन का अवसर अब तक नहीं मिला। मैं जब लोकसभा इलेक्शन में था तब भी ऐसा दृश्य देखने को नहीं मिला। उन्होंने कहा क‌ि इतनी संख्या में आने के ल‌िए आभार व्यक्त करता हूं।
अटल जी की कर्मभूमी है लखनउ
उन्होंने कहा क‌ि मैं लखनऊ की धरती को प्रणाम करता हूं। अटल जी ने लखनऊ की जो सेवा की वो आज भी यहां महसूस होती है। अटल जी और कल्याण सिंह अगर आज टीवी पर देखते होंगे तो हम सबको आशीर्वाद देते होंगे।

पॉलिटिकल पंडित चुनाव का हिसाब किताब लगाते हैं
पीएम मोदी ने कहा कि पॉलिटिकल पंडित चुनाव का हिसाब किताब लगाते हैं। यूपी का चुनाव किस दिशा में जाएगा उसका हिसाब करने वालों को अब मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। हवा का रुख अब साफ है। सरकार बदलने के छह महीने बाद लोग पुरानी सरकार को भूल जाते हैं लेकिन मैं गर्व के साथ कह सकता हूं कि भाजपा की जो सरकारें चलीं आज 14 साल भी यूपी के लोग उसे याद करते हैं और वर्तमान सरकारों के साथ तुलना करते हैं।
बीजेपी का 14 साल का वनवास खत्म होगा
बीते दिनों टीवी पर कुछ लोगों को कहते सुना कि बीजेपी का 14 साल का वनवास खत्म होगा। मुद्दा वनवास का नहीं है। मुद्दा 14 साल के लिए यूपी में विकास का वनवास हो गया है।
यूपी सरकार को हर बार 1 लाख करोड़ रुपये
मोदी ने मौजूदा यूपी सरकार पर विकास में बाधा बनने का आरोप लगाया और कहा, क्या यही खेल खेलते रहोगे क्या? जब से दिल्ली में हमारी सरकार बनी है यूपी सरकार को हर बार 1 लाख करोड़ रुपये ज्यादा रकम मिली है। ढाई साल में ढाई लाख करोड़ रुपए कम नहीं होता। अगर दिल्ली सरकार के रुपयों का सही उपयोग हुआ होता तो यूपी कहां से कहां पहुंच गया होता। दो दलों के बीच में राजनीति समझी जा सकती है लेकिन जनता के साथ राजनीति नहीं होनी चाहिए। जब ऐसा होता है तो विकास रुक जाता है।
किसानों की ऐसी हालत मंजूर नहीं
आज मुझे दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि भारत सरकार से पूरी मदद मिलने के बाद किसानों के लिए फुरसत नहीं थी। हमें किसानों की ऐसी हालत मंजूर नहीं है। इसके लिए परिवर्तन लाना जरूरी है।
अम्बेडकर और रमाबाई को प्रणाम करने में गर्व
क्या राजनीति इतनी नीचे चली गई है अम्बेडकर और रमाबाई को प्रणाम करने में गर्व महसूस होता है लेकिन हमने बीते दिनों रुपयों के लेन-देन के लिए भीम नाम की ऐप लॉन्च भीम को आर्थिक लेन-देन के हिसाब-किताब में महारथ हासिल की थी। इतने साल पहले इस महापुरुष को रुपए के भविष्य का पता था अगर ऐसे महापुरुष के नाम पर ऐप चले तो किसी के पेट में चूहे क्यों दौड़ रहे हैं।
पिछले 15 साल से अपने बेटे को स्थापित करना चाहते थे
मैं चाहता हूं आप इस ऐप को गांव-गांव तक पहुंचाएं। एक दल ऐसा है जो अपने बेटे को स्थापित करने के लिए पिछले 15 साल से स्थापित कर रहा है लेकिन दाल गलती नहीं नजर आ रही। दूसरा दल पैसे रखने की चिंता में है। दूर-दूर की बैंकें खोज रहे हैं‌ कि पैसा कहां ठिकाने लगाएं। एक दल, परिवार का क्या होगा... उसमें लगा हुआ है
यूपी में आधा-अधूरा परिवर्तन मत करना
अब यूपी की जनता को तय करना है कि पैसों को बचाने के‌ लिए जो लगे हैं वो यूपी को बचा पाएंगे क्या? एक तरफ परिवार में उलझी पार्टी बस भाजपा ही है जो यूपी को बचा सकती है। यूपी में आधा-अधूरा परिवर्तन मत करना। भारी बहुमत के साथ परिवर्तन करना ताकि कोई रुकावट न आए।
मोदी पैसा दे इससे भी परेशानी
मैंने नोटबंदी के 50 दिन बाद गरीबों के लाभ, उनके घर, प्रसूताओं के लिए योजनाएं बनाईं। लोगों को इससे भी तकलीफ हुई। मोदी पैसा ले ले इससे भी परेशानी हुई। मोदी पैसा दे इससे भी परेशानी हुई। भाइयों-बहनों मैं एक बात कहना चाहूंगा कि यूपी का प्रभाव का पूरे हिंदुस्तान पर होता है। ये चुनाव बहुत जिम्मेदारी का है। जो हमारे साथ हैं उनका भी भला हो, जो साथ नहीं है उनका भी भला है। भाजपा के लिए कुछ कर दिखाने का चुनाव है।
यूपी का भाग्य बदलना पड़ेगा
पूर्ण बहुमत की सरकार बने, इतनी स‌ीमित सोच हमारी नहीं है। हिंदूस्तान का भाग्य बदलने के ल‌िए पहले यूपी का भाग्य बदलना पड़ेगा। इसलिए भारत को आगे बढ़ना है तो यूपी का आगे बढ़ना आवश्यक है।
रैली का डिजिटल प्रसारण
प्रशासन को 10 हजार बसें, 50 हजार छोटे वाहनों और 8-10 लाख लोगों के आने की सूचना दी गई थी। आइटी सेल 250 से अधिक लैपटॉप के जरिए रैली का डिजिटल प्रसारण वेब व सोशल मीडिया पर कर रहा है। पीएम इस मौके पर यूपी चुनाव के लिए बीजेपी के अजेंडे का खाका भी खींचेंगे, जिसे कार्यकर्ता नीचे तक ले जा सकें।
सभी परिवर्तन रैलियों में यह पहली बार
आपको बता दें कि बीजेपी पार्टी की अब तक की सभी परिवर्तन रैलियों में यह पहली बार है, जब आम जनता के साथ कार्यकर्ता भी प्रधानमंत्री का सम्बोधन सुन रहै हैं। रैली में राज्य के सभी 01 लाख 40 हजार बूथों से लाखों कार्यकर्ता हिस्सा लेने पहुंचे। भाजपा की यह सातवीं परिवर्तन रैली है। 05 नवम्बर को पार्टी ने सहारनपुर से परिवर्तन रैली की शुरूआत की थी और 24 दिसम्बर को इसका लखनऊ में समापन किया गया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top