Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अन्नदाताओं पर ''राहत की बारिश'', खरीफ फसलों की MSP बढ़ाकर सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों से संबंधित समिति ने 14 खरीफ फसलों के एमएसपी के प्रस्तावों को स्वीकृत किया।

अन्नदाताओं पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों से संबंधित समिति ने बुधवार को 14 खरीफ फसलों के एमएसपी के प्रस्तावों को स्वीकृत किया।

सरकार ने यह निर्णय ऐसे समय लिया है जबकि कृषि उपजों के दाम गिरने से किसान परेशान हैं और आम चुनाव एक साल के अंदर होने वाले हैं।

इसे भी पढ़ें- 2019 की तैयारियों में जुटी बीजेपी, अमित शाह ने एमएसपी वृद्धि के फैसले को बताया ऐतिहासिक

इससे पहले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने 2012-13 में धान के एमएसपी में सर्वाधिक 170 रुपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की थी। मौजूदा सरकार ने पिछले चार साल में इसे 50-80 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाया था।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने समिति के निर्णयों की जानकारी देते हुए कहा 2018-19 के लिए 14 खरीफ फसलों का एमएसपी बढ़ाया गया है।

उन्होंने कहा कि कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (सीएसीपी) का अनुमान था कि धान की खेती की लागत 1,166 रुपए प्रति क्विंटल है।

इसी आधार पर सरकार ने धान (सामान्य किस्म) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 200 रुपए बढ़ाकर 1,750 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया। धान (ग्रेड ए) का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी 180 रुपए बढ़ाकर 1,770 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है।

सिंह ने कहा, इससे किसानों को सकारात्मक संदेश मिलेगा और उनका भरोसा बढ़ेगा। इससे कृषि की बदहाली भी दूर होगी। सिंह ने इसे ऐतिहासिक निर्णय बताते हुए कहा कि एमएसपी में तेज वृद्धि हड़बड़ी में लिया गया फैसला नहीं है बल्कि यह काफी सोच - समझकर किया गया है।

इससे खजाने पर 15 हजार करोड़ रुपए से अधिक दबाव पड़ेगा। उन्होंने कहा, इससे किसानों की आय और खरीद क्षमता बढ़ेगी जिसका वृहद आर्थिक गतिविधियों पर प्रभाव होगा।

इसे भी पढ़ें- मोदी कैबिनेट ने डेढ़ गुना बढ़ाया फसलों का MSP, अब किसानों को प्रति एकड़ पर मिलेंगे 8 हजार रुपए

कीमतों में वृद्धि पर एमएसपी के संभावित असर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, हम मुद्रास्फीति के बारे में चिंतित हैं। यह कहना सही नहीं है कि मुद्रास्फीति बढ़ेगी। हमने पिछले चार साल इसपर नियंत्रण किया है और भविष्य में भी इसे नियंत्रित रखेंगे।

खाद्यमंत्री रामविलास पासवान ने निर्णय का स्वागत करते हुए कहा, हम सुनिश्चित करेंगे कि एक - एक दाना एमएसपी पर खरीदा जाए। हमने वादा पूरा किया।

यह निर्णय अगले साल चुनाव को ध्यान में रखकर नहीं लिया गया है। विपणन वर्ष 2016-17 की खरीद के आंकड़ों के हिसाब से धान का एमएसपी बढ़ाने से खाद्य छूट पर 11 हजार करोड़ रुपए का बोझ आएगा।

ये है कीमतें

सीएसीपी ने कपास (मध्यम आकार का रेशा) का लागत मूल्य 3,433 रुपए प्रति क्विंटल किया था। इसका एमएसपी 4,020 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,150 रुपये प्रति क्विंटल और कपास (लंबा रेशा) का एमएसपी 4,320रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,450रुपए प्रति क्विंटल पर कर दिया गया।

अरहर का एमएसपी 5,450 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,675 रुपये प्रति क्विंटल , मूंग का एमएसपी 5,575 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 6,975 रुपए प्रति क्विंटल और उड़द का एमएसपी 5,400 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,600 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है।

तिलहनों में सोयाबीन का एमएसपी 3,050 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 3,399 रुपए प्रति क्विंटल, मूंगफली का 4,450 रुपये प्रति क्विंटल से 4,890 रुपये प्रति क्विंटल, सूर्यमुखी बीज का 4,100 रुपए प्रति क्विंटल से 5,398 रुपए प्रति क्विंटल , तिल 5,300 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,877 रुपए प्रति क्विंटल और काला तिल (नाइजर सीड) का 4,050 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5,877 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया गया।

अब धान का समर्थन मूल्य

धान (सामान्य किस्म) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 200 रुपए बढ़ाकर 1,750 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है। धान (ग्रेड ए) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 160 रुपए बढ़ाकर 1,750 रुपए प्रति क्विंटल कर किया गया है।

पीएम मोदी का ट्वीट

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, मुझे अत्यंत खुशी हो रही है कि किसान भाइयों बहनों को सरकार ने लागत के डेढ़ गुना एमएसपी देने का जो वादा किया था आज उसे पूरा किया गया है। फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में इस बार ऐतिहासिक वृद्धि की गई है। सभी किसान भाइयों-बहनों को बधाई।

आजाद भारत में सर्वाधिक वृद्धि: राजनाथ

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आजाद भारत के इतिहास में न्यूनतम समर्थन मूल्य में पहली बार इतनी बड़ी वृद्धि की गई। किसानों में हताशा और निराशा थी इसे प्रधानमंत्री मोदी ने समझा। वह भी किसान परिवार से हैं और यह कभी कल्पना नहीं की थी कोई सरकार ऐसा कदम उठाएगी।

डॉ. रमन बोले, आज स्वर्णिम दिन

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार का यह ऐतिहासिक फैसला है। मैं छत्तीसगढ़ के सभी विधायकों, किसानों और ढाई करोड़ जनता की ओर से धन्यवाद देता हूं।

मोदी सरकार ने अपनी घोषणा के अनुरूप एमएसपी बढ़ाने जाने का ऐतिहासिक एेलान किया है। आज का दिन स्वर्णिम दिन है। इस फैसले के बाद हम 2100 रुपए समर्थन मूल्य तक आ गए हैं।

Next Story
Top