Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत के हमले की योजना के पाकिस्तान के दावे को विदेश मंत्रालय ने किया खारिज

भारत ने रविवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की उस टिप्पणी को ‘‘गैरजिम्मेदाराना और निरर्थक'''' बताते हुए खारिज कर दिया कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच फिर से पाकिस्तान पर हमला करने की योजना बना रहा है।

भारत के हमले की योजना के पाकिस्तान के दावे को विदेश मंत्रालय ने किया खारिज

भारत ने रविवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की उस टिप्पणी को ‘‘गैरजिम्मेदाराना और निरर्थक' बताते हुए खारिज कर दिया कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच फिर से पाकिस्तान पर हमला करने की योजना बना रहा है।

कुरैशी ने अपने गृह नगर मुल्तान में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान के पास ‘‘विश्वसनीय खुफिया जानकारी है कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच पाकिस्तान पर एक और हमले की योजना बना रहा है।'
इसके बाद पाकिस्तान ने भारतीय उप उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया को तलब किया और ‘‘किसी भी दुस्साहस' को लेकर चेतावनी जारी की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने तीखे शब्दों में कहा कि पाकिस्तानी विदेश मंत्री की टिप्पणी का मकसद क्षेत्र में युद्ध उन्माद को बढ़ावा देना है।
कुमार ने एक बयान में कहा, ‘‘पाकिस्तान के विदेश मंत्री द्वारा क्षेत्र में युद्ध उन्माद को बढ़ावा देने के साफ मकसद वाले गैरजिम्मेदाराना और निरर्थक बयान को भारत खारिज करता है। यह हथकंडा पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों को भारत में आतंकी हमला करने के लिए आह्वान है।'
उन्होंने कहा कि भारत को सीमा पार से होने वाले किसी भी आतंकवादी हमले के लिए ‘‘दृढ़तापूर्वक और निर्णायक' जवाब देने का अधिकार है। कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। उस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।
इसके बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकवाद-रोधी अभियान के तहत 26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया था।
कुमार ने कहा कि पाकिस्तान को स्पष्ट कर दिया गया है कि वह भारत में सीमा पार से होने वाले आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी से खुद को अलग नहीं कर सकता।
उन्होंने कहा कि इस तरह के हमलों में अपनी संलिप्तता के लिए बहानेवाजी का कोई प्रयास सफल नहीं होगा। पाकिस्तान को अपने क्षेत्रों से चल रहे आतंकवाद के खिलाफ विश्वसनीय कदम उठाने की जरूरत है।
कुमार ने कहा कि पाकिस्तान को आतंकी हमलों के बारे में किसी भी कार्रवाई योग्य और विश्वसनीय खुफिया जानकारी को साझा करने के लिए स्थापित राजनयिक और सैन्य संचालन महानिदेशक चैनलों का उपयोग करने की सलाह दी गयी है।
इस बीच पाकिस्तान ने रविवार को कहा कि उसने भारतीय उप उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया को तलब किया और ‘‘किसी भी दुस्साहस' को लेकर चेतावनी जारी की।
पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि पाकिस्तान पर हमले की भारत की योजना संबंधी कुरैशी की टिप्पणी के बाद यह कदम उठाया गया।
Next Story
Top