Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सूरत रेप केस में बच्ची की पहचान निकालने में जुटे व्यापारी, साड़ियों की पैकिंग पर छापी पीड़िता की फोटो

काठुआ के बाद सूरत में 11 साल की बच्ची से रेप के बाद हत्या की घटना ने पूरे देश में महिला सुरक्षा, खासकर रेप के मामलों को लेकर चल रहे गुस्से को और भड़का दिया।

सूरत रेप केस में बच्ची की पहचान निकालने में जुटे व्यापारी, साड़ियों की पैकिंग पर छापी पीड़िता की फोटो

काठुआ के बाद सूरत में 11 साल की बच्ची से रेप के बाद हत्या की घटना ने पूरे देश में महिला सुरक्षा, खासकर रेप के मामलों को लेकर चल रहे गुस्से को और भड़का दिया। लोग विरोध करने सड़कों पर उतरे, कहीं प्रदर्शन हुए तो कहीं कैंडल मार्च।

इस सब के बीच सूरत में लोग बच्ची की पहचान का पता लगाने के लिए यहां के साड़ी व्यापारी आग आए हैं। सेवा फाउंडेशन नाम के एनजीओ के संस्थापक ललित शर्मा ने बताया है कि सूरत पुलिस की मदद से बच्ची का पता लगाने की कोशिश की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः सूरत रेप-मर्डर केस की जांच करेगी क्राइम ब्रांच, पीड़िता की पहचान करने वाले को पुलिस देगी 20 हजार

उन्होंने बताया, 'बच्ची की पहचान नहीं होने पर स्थानीय साड़ी व्यापारियों की मदद ली गई। बच्ची की तस्वीर वाले 25,000 पर्चे छपवाकर साड़ी के पैकट्स में रखे गए और अलग-अलग राज्यों में भेज दिए गए।

उन पर पुलिस अधिकारियों के नंबर और अन्य जानकारियां भी लिखी गईं जिससे कि अगर किसी के पास बच्ची से जुड़ी जानकारी हो तो वह संपर्क कर सके।

यह भी पढ़ेंः गुजरात: सूरत में 11 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या, शरीर पर 80 चोटों के निशान

इन राज्यों में ऐसे पहुंच रहा संदेश

साड़ियों के पैकट उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा भेजे गए हैं। पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा ने बताया कि ऐसे ही पोस्टर पश्चिम बंगाल, ओडिशा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश जाने वाली ट्रेनों पर भी लगा दी गई हैं।

इससे पहले सूरत के बिल्डर तुषार घेलानी ने बच्ची या दोषियों के बारे में जानकारी देने वाले को 5 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी।

(भाषा-इनपुट)

Next Story
Top