Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यौन उत्पीड़न जैसे गंभीर आरोपों के बाद मेघालय के राज्यपाल ने दिया इस्तीफा

राज्यपाल पर राजभवन को ''यंग लेडीज क्लब'' बनाने के आरोप लगे हैं।

यौन उत्पीड़न जैसे गंभीर आरोपों के बाद मेघालय के राज्यपाल ने दिया इस्तीफा
नई दिल्ली. मेघालय के राज्यपाल वी. संगमुंगनाथन को शिलॉन्ग में राजभवन के कर्मचारी तुरंत प्रभाव से हटाने की मांग कर रहे थे। राजभवन में काम करनेवाले अधिकारी से लेकर चरपरासी तक 100 कर्मचारियों ने षणमुगनाथन पर यौन उतपीड़न जैसे बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। इसके बाद राज्यपाल वी. षणमुगनाथन ने इस्तीफा दे दिया है।
कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री कार्यालय और राष्ट्रपति भवन को पांच पेज की एक चिट्ठी लिखकर राज्यपाल को तत्काल प्रभाव से हटाने की मांग की थी। हालांकि राज्यपाल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया है। एक स्थानीय अखबार को दिए इंटरव्यू में राज्यपाल ने कहा, ”ये सारी बातें सही नहीं हैं, हमने सिर्फ एक उम्मीदवार का चयन किया, जिन लोगों का चयन नहीं हुआ उन्हें ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए।
कर्मचारियों ने खत लिखकर आरोप लगाया था कि राज्यपाल की हरकतों की वजह से राजभवन की मर्यादा और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची है। खत में आरोप लगाया गया है कि राजभवन को एक 'यंग लेडिज क्लब' में तब्दील कर दिया गया है। ये एक ऐसी जगह बन गयी है जहां लड़कियां राज्यपाल के सीधे आदेश से आती जाती हैं, कई लड़कियों की पहुंच सीधे उनके बेडरूम तक है। नौकरी के लिए एक महिला ने भी आरोप लगाया था कि राज्यपाल ने उसके साथ बदतमीजी की थी। इस कारण राजभवन के कर्मचारियों की भावनाएं आहत हुईं थीं।
खत में कहा गया है कि राजभवन की सुरक्षा के साथ समझौता किया गया है। राजभवन अब एक ऐसी जगह बन गई है कि राज्यपाल के आदेश के साथ युवा लड़कियां आती हैं और सीधे अंदर जाती हैं। हालांकि संगमुंगनाथन ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों का खंडन किया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top