Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस: हंसराज अहीर का कांग्रेस पर हमला, बोले- धर्म को आतंकवाद से ना जोड़ा जाए

ग्यारह साल पहले हैदराबाद की मशहूर मक्का मस्जिद में बम धमाका हुआ था, जिसमें कई लोगों ने अपनी जान गंवाई थी। ग्यारह साल बाद जब कोर्ट ने इस मामले में सभी आ रोपियों को बरी कर दिया था। इस फैसले के बाद से ही सियासी गलियारों में हलचल शुरु हो गई थी, वहीं केंद्र सरकार पर विपक्षी दलों ने जमकर तंज कसे और हमला भी बोला। इन सब पर केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने विपक्षी दलों पर पलटवार करते हुए बयान दिया है।

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस: हंसराज अहीर का कांग्रेस पर हमला, बोले- धर्म को आतंकवाद से ना जोड़ा जाए

ग्यारह साल पहले हैदराबाद की मशहूर मक्का मस्जिद में बम धमाका हुआ था, जिसमें कई लोगों ने अपनी जान गंवाई थी। ग्यारह साल बाद जब कोर्ट ने इस मामले में सभी आरोपियों को बरी कर दिया था। इस फैसले के बाद से ही सियासी गलियारों में हलचल शुरु हो गई थी, वहीं केंद्र सरकार पर विपक्षी दलों ने जमकर तंज कसे और हमला भी बोला। इन सब पर केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने विपक्षी दलों पर पलटवार करते हुए बयान दिया है।

ये भी पढ़े: मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस: भगवा आतंक के पैंतरे पर घिर गई कांग्रेस

मक्का मस्जिद बम धमाके पर केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने कहा है कि किसी भी धर्म को आतंकवाद से जोड़ना किसी नेता शोभा नहीं देता है हम भगवाआतंकवाद को नहीं स्वीकार करेंगे।

उन्होंने पूर्व गृह मंत्री के बारे में आगे कहा है कि एक छोटा सा आदमी इतनी बड़ी पोस्ट पर बैठा था।

बता दें कि ग्यारह साल पहले हैदराबाद की जानी-मानी मक्का मस्जिद में हुए विस्फोट मामले में सोमवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी की विशेष अदालत द्वारा स्वामी असीमानंद सहित पांच आरोपियों को बरी किए जाने के बाद तत्कालीन यूपीए सरकार की भारत में भगवा आतंकवाद की थ्येरी गंभीर सवालों के घेरे में आ गई है।

उस समय के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने एक कार्यक्रम में जब भगवा आतंकवाद के खतरे की बात कही थी, तब कांग्रेस के भीतर ही इसे लेकर तीखे मतभेद महसूस किए गए थे।

मई 2007 में हुए उस विस्फोट में 9 लोग मारे गए थे, जबकि 58 अन्य घायल हो गए थे। कुछ लोग विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई पुलिस कार्रवाई में भी मारे गए थे।

ये भी पढ़े: मक्का ब्लास्ट मामले में NIA जज के इस्तीफे के बचाव में सामने आए पूर्व अपर गृह सचिव मनी,कांग्रेस को बताया साजिशकर्ता

केन्द्र में डा. मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार थी और आतंकवाद सहित कई मुद्दों पर कांग्रेस के भीतर तीखे मतभेद जब-तब उभरते हुए देखे जा रहे थे। पी चिंदंबरम, सलमान खुर्शीद और दिग्विजय सिंह से लेकर कुछ और नेता आतंकवाद की घटनाओं पर विवादास्पद बयानबाजी के लिए खासे चर्चा में रहते थे।

Next Story
Top