Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ब्वॉयफ्रेंड के गले में फंसा मीट, प्रेमिका ने चाकू से गला काटकर बचाई जान

न्यूजीलैंड के नॉर्थ आईलैंड में एक शख्स के गले में जब मीट फंस गया तो वह डायनिंग टेबल से नीचे जमीन पर गिर गया और हाथ पैर पटकने लगा।

ब्वॉयफ्रेंड के गले में फंसा मीट, प्रेमिका ने चाकू से गला काटकर बचाई जान

एक शख्स के गले में रोस्टेड मीट इस कदर फंस गया कि उसकी प्रेमिका मौके पर न होती तो शायद उसका जिंदा बचना मुश्किल था। शख्स के गले में जब मीट फंस गया तो वह डायनिंग टेबल से नीचे जमीन पर गिर गया और हाथ पैर पटकने लगा।

तभी उसकी प्रेमिका ने स्टील की चाकू से उसका गला रेतकर मीट का टुकड़ा निकाला तब जाकर उसकी जान बच सकी। घटना न्यूटीलैंड के नॉर्थ आईलैंड की है।

50 साल का शख्स इसाक बेस्टर अपनी प्रेमिका साराह ग्लास (45) के साथ बीबीक्यू रेस्टोरेंट गया था। यहां दोनों ने रोस्टेड मीट ऑर्डर किया और खाने लगे। तभी बेस्टर के गले में मीट का टुकड़ा फंस गया।

इसे भी पढ़ें- हैरतअंगेज: 11 साल की बच्ची की आंख से निकल रही हैं मरी चीटियां, डॉक्टर भी हैरान

यह इस कदर फंसा कि सांस लेने का रास्ता ब्लॉक हो गया और वह बुरी तरह से छटपटाने लगा। तभी उसकी प्रेमिका ने बिल्कुल फिल्मी अंदाज में बेस्टर का गला स्टील की चाकू से रेत दिया और सांस के रास्ते को खोला।

इसके बाद उसके गले से खून की धारा बह निकली तो फौरन पुलिस और डॉक्टरों की टीम को बुलाया गया। डॉक्टरों ने किसी तरह से मामले को काबू किया और बेस्टर की जान बचाई।

इधर प्रेमिका साराह ने पुलिस को बताया कि पहले बचाने के सीपीआर (अपने मुंह से हवा भरना) दी, लेकिन इसका कोई असर नही हुआ। बेस्टर का शरीर नीला पड़ने लगा। कुछ ही मिनट में ऐसा लगने लगा कि वह अब हम सब की आंखों के सामने ही दम तोड़ देगा।

इसे भी पढ़ें- शादी के कुछ घंटों बाद दुल्हन ने दिया बच्चे को जन्म, इस डर की वजह से छिपाई गर्वभती होने की बात

ट्रैकियोटॉमी में ट्रेंड थी प्रेमिका

लेकिन उनके पास कोई उपाय नहीं था सिवाय गला काटने के। ग्लास ने मीडिया को बताया कि उसने अपने कॉलेज के दिनों मे ट्रैकियोटॉमी पढ़ी थी जिसमें गले के रास्ते से सांस पहुंचाने के बारे में बताया गया था।

इसका उसने घरेलू औजारों से प्रेक्टिकल भी किया था। घटना के बार रेस्टोरेंट की ओर से पीड़ित को एयरलिफ्ट कराकर उसे अस्पताल पहुंचाया गया।

बताया जा रहा है कि अस्पताल में बेस्टन तीन दिन तक कोमा में रहा इसके अगले हफ्ते में उसकी तबीयत में तेजी से सुधार हुआ। वह अब खतरे से बाहर है और अभी भी अस्पताल में भर्ती है।

Next Story
Top