Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब नहीं खा पाएंगे MC Donald''s का बर्गर, बंद हुए 50 फीसदी आउटलेट्स

जून में कंपनी ने दिल्ली में अपने 43 आउटलेट्स बंद किए थे। जिसके बाद करीब 80 फीसदी रेस्तरां जून में बंद कर दिए गए थे।

अब नहीं खा पाएंगे MC Donald
मैकडोनाल्ड्स लवर्स के एक बुरी खबर है। दरअसल उत्तर और पूर्वी भारत में स्थित 84 से अधिक आउटलेट्स बंद कर दिए गए हैं। इस कारण कंपनी के आधे से ज्यादा आउटलेट्स पर ताला लग गया है। इसके बाद से लोगों को अपना पसंदीदा मैक डी का बर्गर और सॉफ्टी खाने को नहीं मिलेगी। इसका असर दिल्ली-एनसीआर में मौजूद कंपनी के आउटलेट्स पर भी पड़ा है।

ये है आउटलेट्स बंद होने की वजह
विक्रम बख्शी और मैकडोनाल्ड्स के बीच 50-50 फीसदी हिस्सेदारी वाले कनॉट प्लाजा रेस्टोरेंट (सीपीआरएल) में कच्चा माल सप्लाई करने वाले राधाकृष्ण फूडलैंड ने आपूर्ति को ठप्प कर दिया है। इसका असर ज्यादातर आउटलेट्स पर पड़ा है। राधाकृष्ण फूडलैंड ने कहा है कि सीपीआरएल ने काफी लंबे समय से बकाया पैसा जमा नहीं किया है।
सप्लाई रखने के लिए एयरलिफ्ट कर रहे हैं कच्चा माल
विक्रम बख्शी ने कहा कि वो मैकडोनाल्ड्स को चालू रखने के लिए वो कच्चे माल को देश के अन्य भागों से एयरलिफ्ट कर रहे हैं। बख्शी ने कहा कि सीपीआरएल राधाकृष्ण फूडलैंड से बातचीत करके मामला सुलझाने की पूरी कोशिश कर रहा है। 2 करोड़ रुपए के बकाए के अलावा कंपनी के पास 10 करोड़ को स्टॉक हैं। हम फिलहाल 50 लाख रुपए देकर सप्लाई चालू रखने की बात कर रहे हैं।
राधाकृष्ण फूडलैंड के प्रमोटर राजू शेटे ने कहा कि हमने सीपीआरएल को 3 पत्र लिखे और बख्शी से मीटिंग भी की लेकिन कोई हल सामने नहीं आया।
गौरतलब है कि जून में कंपनी ने दिल्ली में अपने 43 आउटलेट्स बंद किए थे। जिसके बाद करीब 80 फीसदी रेस्तरां जून में बंद कर दिए गए थे। दरअसल सीपीआरएल के पास 21 साल का लाइसेंस था जिसको उसने मैकडोनाल्ड से रिन्यू नहीं किया था। सीपीआरएल में विक्रम बख्शी और मैकडोनाल्ड के बीच 50-50 फीसदी पार्टनरशिप थी।
Next Story
Share it
Top