Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

तमिलानडुः डॉक्टर बनने के लिए भरने होंगे 2 करोड़ रुपए

स्टेट हेल्थ विभाग ने कहा प्राइवेट कॉलेजों के पास फीस को घटाने और बढ़ाने की स्वायत्तता है।

तमिलानडुः डॉक्टर बनने के लिए भरने होंगे 2 करोड़ रुपए
नई दिल्ली. तमिलनाडु में एमबीबीएस की पढ़ाई इतनी महंगी हो गई है जिसे सुनकर शायद आप अपने बच्चे को कभी डॉक्टर न बनाना चाहें। दरअसल, खबर आई है कि तमिलनाडु में एमबीबीएस की पढ़ाई की फीस दुगनी हो गई है। यहां के प्राइवेट कॉलेजों में एमबीबीएस की फीस को 1 करोड़ रु. से 2 करोड़ रु. कर दी है। यह फीस सीबीएसई की नीट परीक्षा के चलते बढ़ाई गई है। तमिलनाडु में स्टेट हेल्थ विभाग के मुताबिक, प्राइवेट कॉलेजों के पास फीस को घटाने और बढ़ाने की स्वायत्तता है।
नीट की रैंक के अनुसार होगा दाखिला
बता दें कि तमिलनाडु में निजी चिकित्सक कॉलेज और डीम्ड यूनिवर्सिटी ने सीबीएसई की राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) के चलते एमबीबीएस की फीस को दुगना करने का फैसला लिया है। पढ़ाई की औसतन लागत 1.85 करोड़ रु. के साथ 1 करोड़ ट्यूशन फीस और 85 लाख केपिटेशन फीस है। जानकारी के मुताबिक सभी निजी कॉलेज और डीम्ड यूनिवर्सिटी को मेरिट के आधार पर प्रवेश देने का आदेश है। गौरतलब है कि नये नियम के अनुसार छात्र स्वतंत्र रुप से अलग-अलग कॉलेजों में आवदेन कर सकेंगे लेकिन उनका दाखिला नीट के रैंक के अनुसार ही होगा।
नहीं भर पाएंगे इतनी फीस
कुछ कॉलेजों ने अभिभावकों को कहा कि उन्हें 40 से 85 लाख के बीच केपिटेशन फीस भरनी ही होगी। वहीं, अभिभावक का कहना है कि यह मेरिट के आधार पर होना चाहिए पर कॉलेजों का मानना है कि यह कोर्ट के आदेश के अनुसार नहीं है। जबकि कुछ अभिभावकों ने कॉलेजों में मेरिट लिस्ट की पारदर्शिता को लेकर कहा तो कुछ का मानना है कि वे साढ़े पांच सालों में इतनी भारी-भरकम फीस नहीं भर पाएंगे।
प्राइवेट कॉलेजों को है स्वायत्तता
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, चेन्नई में एसआरएम मेडिकल कॉलेज में 2014 में ट्यूशन फीस 9 लाख रु. 2015 में 10 लाख रु. और 2016 में 21 लाख हो चुकी है जिसमें 2 लाख रु. की विकासात्मक फीस और 1 लाख रु. पाठ्यक्रम फीस भी शामिल है। वहीं, यह बात भी सामने आई है कि स्टेट हेल्थ विभाग के अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, प्राइवेट कॉलेजों के पास फीस को घटाने और बढ़ाने की स्वायत्तता है
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top