Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पटना रैली में एक मंच पर होंगे बुआ-भतीजा

1993 में भी सपा और बसपा ने मिलकर सरकार बनाई थी।

पटना रैली में एक मंच पर होंगे बुआ-भतीजा
लोकसभा चुनाव के दौरान एक दूसरे के खिलाफ शब्द बाड़ चलाने वाले यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश और बसपा सुप्रिमो मायावती एक साथ मंच साझा करने वाले हैं। अगस्त में पटना में आयोजित राष्ट्रिय जनता दल (राजद) की रैली में ये दोनों ही सूरमा एक साथ नजर आएंगे।
राजद के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अशोक सिंग ने ये बताया कि मायावती और अखिलेश यादव ने 27 अगस्त को होने वाली रैली में आने की रजामंदी दे दी है। इस रैली में मुलायम को भी लाने की कोशिश की जा रही है।
बता दें कि 1993 में सपा और बसपा ने मिलकर सरकार बनाई थी। लेकिन बाद में 'चर्चित गेस्ट हाउस कांड' के बाद दोनों ही पार्टियों में 36 का आंकड़ा हो गया था। जिसके बाद ये माना जा रहा था कि अब ये दोनों पार्टियां कभी करीब नहीं आएगी। लेकिन हालात बदलते देर नहीं लगती।
सियासी गलियारे में ये खबरें उड़ने लगी हैं कि अब राजनीति की नई इबारत लिखी जाएगी। बता दें कि 2014 के विधानसभा चुनाव और 2017 के लोकसभा के चुनाव में भाजपा द्वारा सपा और बसपा को करारी शिकस्त मिली थी।
बसपा हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में कुल 403 में से मात्र 19 सीटें ही जीत सकी थी। वहीं, सपा भी इस बार महज 47 सीटों पर सिमट गयी, जो उसका अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन है।
अब भाजपा को रास्ते से हटाने के लिए इन दोनों ही पार्टियों को गठबंधन के बारे में विचार करना ही पड़ेगा। आने वाले विधानसभा चुनाव में दोनों ही पार्टियों को जीत के लिए नई रणनीती तैयार करनी पड़ेगी।
Next Story
Top