Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ये हैं माया कोडनानी की जिंदगी से जुड़े हैरान कर देने वाले 10 अनसुने किस्से

नरोदा पाटिया दंगा मामले में मुख्य आरोपी हैं माया कोडनानी। 2002 के गुजरात दंगों में उनका नाम उभर कर आया था।

ये हैं माया कोडनानी की जिंदगी से जुड़े हैरान कर देने वाले 10 अनसुने किस्से
नरोदा पाटिया दंगा मामले में मुख्य आरोपी हैं माया कोडनानी। 2002 के गुजरात दंगों में उनका नाम उभर कर आया था। आज ही उनके पक्ष में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गवाही दी है। शाह की गवाही कितना उनके पक्ष में जाएगी, यह तो कोर्ट ही निर्धारित करेगी। लेकिन, हर कोई माया कोडनानी के बारे में जानने को बेकरार है। एक नजर उनके संक्षिप्त प्रोफाइल पर:-
- गोधरा कांड के बाद भड़के नरोदा पाटिया दंगों में कोर्ट कोडनानी को दोषी करार देते हुए बाकायदा 28 साल की सजा सुना चुकी है। 31 अगस्‍त 2012 को कोर्ट ने उन्हें कड़ी सजा सुनाई दी।
- माया कोडनानी गुजरात से भाजपा की तीन बार विधायक रह चुकी है। वो गुजरात में तत्कालीन नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री भी थीं। कोडनानी पर आरोप है कि उन्होंने ही दंगाई भीड़ का नेतृत्व करते हुए उकसाया था।
- कोडनानी की फैमिली पाकिस्तान के सिंध में रहा करती थी। लेकिन, देश विभाजन के बाद यह गुजरात में आकर बस गई। वैसे कोडनानी पेशे से गाइनकालजिस्ट हैं।
- माया बतौर डॉक्टर तो ज्यादा नाम नहीं कमा सकीं, लेकिन आरएसएस की कट्टर कार्यकर्ता के रूप में उन्हें खूब पहचान मिली। इसके बाद वो भाजपा की ओर से तीन बार सफल विधायक भी बनीं।
- नरोदा में अपना अस्पताल चलाने के साथ उन्होंने स्थानीय राजनीति में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। अपने भाषणों से तो वह अच्छे-अच्छों को प्रभावित कर देती थीं। यही वजह है भाजपा के प्रचार में उनका खूब इस्तेमाल हुआ।
- कहा जाता है कि कोडनानी भाजपा के वरिष्‍ठ नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी की करीबी थीं। 2007 में गुजरात विधानसभा चुनाव में जीत के बाद कोडनानी गुजरात सरकार में मंत्री भी बनीं।
- 2009 में सुप्रीम कोर्ट ने जब विशेष टीम का गठन किया तो कोडनानी को गिरफ्तारी के बाद मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा। इसके बाद वो जमानत पर रिहा हो गईं। 29 अगस्त 2012 को कोर्ट ने उन्हें दोषी करार और 31 अगस्‍त कड़ी सजा का ऐलान किया गया।
- इसके बाद कोडनानी ने कोर्ट के फैसले को चुनौती दी। इसकी सुनवाई कोर्ट में अभी भी चल रही है। कई गवाह और सबूत पक्ष-विपक्ष में पेश किए जा रहे हैं।
Next Story
Top