Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मसूद अजहर पर चीन बदल सकता है अपना फैसला

मसूद को आतंकी घोषित करने को लेकर चीन को छोड़कर सभी का समर्थन मिल रहा है।

मसूद अजहर पर चीन बदल सकता है अपना फैसला
नई दिल्ली. पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों की सूची में शामिल कराने की कोशिशें भारत ने फिर शुरू कर दी है। तो वहीं दूसरी तरफ चीन भी मसूद अजहर को लेकर अपना फैसला जल्द बदल सकता है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर पर दिये प्रस्ताव पर चीन की आपत्ति पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।
एनबीटी के मुताबिक, भारत में रह चुके एक पूर्व चीनी राजदूत ने अपने देश से अजहर पर यूएन में लगातार अड़ंगे को रोककर इस मसले पर स्टैंड बदलने को कहा है। कोलकाता में चीन के काउंसिल जनरल रहे माओ सिवे ने कहा कि अजहर एक आतंकवादी है और चीन को अपने स्टैंड को ठीक करना चाहिए।
उन्होंने लिखा कि अजहर को यूएन से आतंकी घोषित करने में चीन के अड़ंगे से भारत-चीन के बीच रिश्ते प्रभावित हो रहे हैं। गौरतलब है कि चीन ने पिछले साल 30 दिसंबर को यूएन में अजहर को आतंकियों की सूची में शामिल कराने की भारत की कोशिशों पर अड़ंगा लगा दिया था। चीन ने कुछ दिन पहले अजहर पर अपने रुख पर विचार करने का संकेत दिया था, लेकिन ऐन वक्त पर वह अपनी बात से पलट गया था।
तो वहीं सरकार के सूत्रों का कहना है कि हम सभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं और अन्य सह-प्रायोजकों के साथ भी इस मसले पर सलाह-मशविरा कर रहे हैं। भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के साथ इस संबंध में बातचीत कर रहा है। इसके अलावा दूसरे विकल्पों पर भी भारत ने काम करना शुरू कर दिया है।
भारत को चीन से मसूद के समले पर सहयोग नहीं मिल रहा, लेकिन भारत अब चीन के अड़ंगों की परवाह किये बगैर ही अपनी कोशिशें जारी रखेगा। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर पर दिये प्रस्ताव पर चीन की आपत्ति पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। भारत ने कहा था कि चीन आतंकवाद के खिलाफ लडाई में दोहरे मापदंड दिखा रहा है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top