Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Martyrs Day: बापू की दांडी यात्रा से निकला नमक, अंग्रेजों की सेहत के लिए हो गया हानिकारक

30 जनवरी को भारत में शहीद दिवस (Martyrs Day) मनाया जाता है। इस दिन नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) ने महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को हम राष्ट्रपिता (Father Of the Nation) कहते हैं। आज महात्मा गांधी की 71वीं पुण्यतिथि है (Mahatma Gandhi Death Anniversary)। महात्मा गांधी को हम बापू भी कहते हैं। उन्होंने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चल कर अंग्रेजों को देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया था।

Martyrs Day: बापू की दांडी यात्रा से निकला नमक, अंग्रेजों की सेहत के लिए हो गया हानिकारक
X

30 जनवरी (30 January) को भारत में शहीद दिवस (Martyrs Day) मनाया जाता है। इस दिन नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या (Mahatma Gandhi Death) कर दी थी। महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को हम राष्ट्रपिता (Father Of the Nation) कहते हैं। आज महात्मा गांधी की 71वीं पुण्यतिथि है (Mahatma Gandhi Death Anniversary)। महात्मा गांधी को हम बापू (Bapu) भी कहते हैं। उन्होंने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चल कर अंग्रेजों को देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया था।

महात्मा गांधी कैसे बनें 'राष्ट्रपिता', जानें

आपने दंगल फिल्म में वो गाना तो सुना ही होगा 'बापू सेहत के लिए, तू तो हानिकारक है'। बापू हानिकारक थे लेकिन अंग्रेजों के लिए। उनका सबसे प्रमुख आंदोलन नमक सत्याग्रह था। इसे दांडी सत्याग्रह भी कहते हैं। दांडी यात्रा को याद करने के लिए महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) दांडी में नमक सत्याग्रह स्मारक का उद्घाटन करेंगे।

यह स्मारक 15 एकड़ में बना है और इसे बनाने में 110 करोड़ रुपए का खर्च आया है। आइए जानते हैं गांधी जी के नमक सत्याग्रह आंदोलन के बारे में। अंग्रेजों के शासनकाल के समय नमक उत्पादन और विक्रय पर भारी मात्रा में कर लगा दिया गया। नमक एक ऐसी चीज है जो हर भारतीय के लिए बेहद जरूरी है।

इस लिए ये कानून निहायत ही घटिया और मानसिक प्रताड़ना देने वाला था। जिसके खिलाफ महात्मा गांधी ने खड़े होने का निश्चय किया। महात्मा गांधी ने मार्च 1930 को साबरमती आश्रम से समुद्र तटीय गांव दांडी तक यात्रा की। यह यात्रा 24 दिनों की थी।

उनकी यह यात्रा जहां-जहां गई लोगों ने उनका स्वागत किया गया और लोग जुड़ते गए। दांडी पहुंच कर गांधी जी ने नमक हाथ में लिया और कहा कि नमक जीवन का एक जरूरी हिस्सा है जैसे हवा और पानी। भारत के समुद्र से बनने वाले नमक पर हर भारतीय का अधिकार है।

दांडी मार्च से जुड़े फैक्ट्स (Facts About Dandi March)

  • स्वतंत्रता सेनानी 24 दिन में 340 किलोमीटर की यात्रा करके दांडी गांव पहुंचे। सुबह 6:30 बजे नमक कानून तोड़ा गया।
  • नमक सत्याग्रह के दौरान 8,000 भारतीयों को जेल में डाला गया।
  • सत्याग्रह आगे भी जारी रहा और गांधी जी की रिहाई के साथ खत्म हुआ।
  • गांधी जी ने नमक हाथ में लेकर कहा कि मैं ब्रिटिश साम्राज्य की नींव को हिला रहा हूं।
  • इस आंदोलन से अमेरिका के गांधी कहे जाने वाले मार्टिन लूथर किंग जूनियर और जेम्ब बेवल को भी प्रेरित किया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top