Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शहीद औरंगजेब के पिता ने दिया पीएम मोदी को अल्टीमेटम, नहीं हुई कार्रवाई तो उठा लूंगा हथियार

भारतीय सेना के जवान औरंगजेब ईद के मौके पर अपने घर आ रहे थे। घर जाने के लिए वह निकल भी चुका थे लेकिन रास्ते में ही आतंकियों ने उनका अपहरण कर लिया। कुछ देऱ बाद ही औरंगजेब को आतंकियों ने मार डाला। पुलिस को उनकी लाश पुलवामा से मिली थी।

शहीद औरंगजेब के पिता ने दिया पीएम मोदी को अल्टीमेटम, नहीं हुई कार्रवाई तो उठा लूंगा हथियार

भारतीय सेना के शहीद जवान औरंगजेब का अंतिम संस्कार पू्रे सैनिक सम्मान के साथ उनके गांव में किया गया। आज सुबह शहीद औरंगजेब के शव को उनके गांव लाया गया। शहीद के परिवार और गांव में गम का माहौल है। गांव वालों में इस दौरान आतंकियों के खिलाफ गुस्सा देखा गया। गांव वालों ने औरंगजेब अमर रहें के नारे भी लगाए।

ईद पर आ रहा था घर पर आई लाश

भारतीय सेना के जवान औरंगजेब ईद के मौके पर अपने घर आ रहे थे। घर जाने के लिए वह निकल भी चुके थे लेकिन रास्ते में ही आतंकियों ने उनका अपहरण कर लिया।

कुछ देऱ बाद ही औरंगजेब को आतंकियों ने मार डाला। पुलिस को उनकी लाश पुलवामा से मिली थी। औरंगजेब ऐंटी-टेरर ग्रुप के सदस्य थे। कई बड़े आतंकियों को ठिकाने लगाने में उनका योगदान था।

पिता ने प्रधानमंत्री को दिया 72 घंटे का वक्त

औरंगजेब के पिता ने कहा है कि मैं प्रधानमंत्री मोदी को 72 घंटे का वक्त देता हूं, अगर 72 घंटे में आतंकियों को खत्म नहीं किया गया तो मैं भी हथियार उठा लूंगा। औरंगजेब के पिता रिटायर सैनिक हैं।

औरंगजेब के पिता ने कहा कि हम इंडियन आर्मी वाले देश के लिए इतना कुछ करते हैं पर सरकारें हमारे लिए कुछ नहीं करती। आपको बता दें कि औरंगजेब का एक भाई भी सेना में भर्ती है। भारतीय जांच एजेंसियां ने खुलासा किया है कि औरंगजेब की हत्या पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के इशारे पर हुई है।

पत्रकार की भी हत्या

आतंकियों ने कल कश्मीर के एक बड़े पत्रकार शुजात बुखारी को सरेआम गोली मार कर उनकी हत्या कर दी थी। शुजात बुखारी राइसिंग कश्मीर के संपादक थे। वह एक ख्याती प्राप्त पत्रकार थे। उनकी हत्या पर राहुल गांधी से लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह तक ने दुख जताया है।

पुलिस जवान और आम नागरिक का आतंकियों ने किया अपहरण

कल ही कश्मीर में आतंकियों ने एक पुलिस जवान और एक आम आदमी का अपहरण किया था। जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस ने पुलिस जवान की पहचान को गुप्त रखा है। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां दोनों का पता लगाने में लगी हुए है।

कल कश्मीर में जिस तरह का आतंक आतंकियों ने मचाया वह कश्मीर के हालातों पर गंभीर सवाल खड़े करता है। कश्मीर में आतंकियों के हौसले दिनों दिन बड़ते ही जा रहे है।

Next Story
Top