Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक की नापाक हरकत: शहीद पिता से आखिरी मुलाकात, फूट-फू़ट कर रोई मासूम: PHOTOS

उत्तराखंड के देहरादून के बेटे दीपक नैनवाल जब तिरंगे में लिपटकर अपने शहर पहुंचे तब शहर देशभक्ति के नारों से गूंज उठा। हर तरफ गम औऱ गर्व का अनोखा मिलन था। शहीद के परिवार में मातम का माहौल है।

पाक की नापाक हरकत: शहीद पिता से आखिरी मुलाकात, फूट-फू़ट कर रोई मासूम: PHOTOS

उत्तराखंड के देहरादून के बेटे दीपक नैनवाल जब तिरंगे में लिपटकर अपने शहर पहुंचे तब शहर देशभक्ति के नारों से गूंज उठा। हर तरफ गम औऱ गर्व का अनोखा मिलन था। शहीद के परिवार में मातम का माहौल है। शहीद की 4 साल की बेटी ने भी अपने पिता को आखिरी विदाई दी।

अपने पिता से आखिरी मुलाकात में मासूम बेटी फूट-फूट कर रो पड़ी। यह दृश्य देखकर वहां मौजूद लोग भी अपनी भावनाओं पर काबू ना रख सके। शहीद का अंतिम संस्कार हरिद्वार में पूरे सेन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

सोशल मीडिया का शहीद को सलाम और बेटी को प्यार -
शहीद पिता की मासूम बच्ची से आखिरी मुलाकात की तस्वीरों को सोशल मीडिया ने हाथों हाथ लिया। सोशल मीडिया ने शहीद को सलाम किया तो वहीं मासूम बच्ची को अपना प्यार भेजा। सोशल मीडिया में भी लोग मासूस की तस्वीर देखकर भावुक हो गए। सोशल मीडिया कभी भी इस तरह की तस्वीरों को इग्नोर नहीं करता।
जब भी कोई इस तरह की खबर आती है तो सोशल मीडिया में भी लोग शहीद के परिवार का साथ देते हैं और अपनी संवेदनाए व्यक्त करते हैं। यहां तक की कुछ लोग तो शहीद के परिवार की खुद से मदद करने का भी वादा करते है। फेसबुक से लेकर ट्विटर तक में इस मासूम की फोटो को शेयर किया गया। इस पर कमेंट किेये गये।
40 दिन चला जिंदगी से संघर्ष -
शहीद जवान दीपक नैनवाल 10 अप्रेल को कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों से लोहा लेते समय गंभीर रूप से घायल हो गए थे। आतंकियों से मुठभेड़ के समय उनको 2 गोली लगी थी जो उनके फेफड़े को चीरते हुए दिल के पास लगी।
हालत गंभीर होने की वजह से उनको पुणे रेफर कर दिया गया था। जहां शहीद ने 40 दिन तक जिंदगी की जंग लड़ी। पर वह यह जंग हार गए। रविवार को उन्होंने आखिरी सांस ली। शहीद जवान दीपक 2001 में सेना में शामिल हुए थे। वह पिछले 2 साल से कश्मीर में तैनात थे।
Next Story
Top