Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कुलभूषण मामले में बोलकर, पाक मीडिया में छाए काटजू

अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट ने कहा था कि वियना समझौते के तहत जाधव को राजनयिक मदद दी जानी चाहिए थी।

कुलभूषण मामले में बोलकर, पाक मीडिया में छाए काटजू

कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा भारत के पक्ष में आने के बाद सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रहे मार्कण्डेय काटजू ने जाधव की फांसी को आईसीजे में उठाना भारत की गलती बताया। काटजू ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा कि भारत ने जाधव के मामले को ICJ के सामने ले जाकर गलती की।

काटजू ने लिखा- जाधव पर आईसीजे के फैसले को लेकर लोग खुशी मना रहे हैं, लेकिन मेरा मानना है कि इस मामले को आईसीजे में उठाकर भारत ने गंभीर गलती की है। एक तरह से हम पाकिस्तान के हाथों में खेल गए हैं। हमने पाकिस्तान को ICJ में और भी दूसरे मुद्दे उठाने की छूट दे दी। हो सकता है कि पाकिस्तान शायद इसी लिए आईसीजे के फैसले का गंभीरता से विरोध नहीं कर रहा है।
गौरतलब है कि पाक ने कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई थी जिसे लेकर भारत ने कड़ा विरोध किया। जाधव की फांसी के मामले को लेकर भारत अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट तक पहुंच गया। कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीले सुनने के बाद ये फैसली सुनाया कि कोर्ट की अंतिम सुनवाई तक पाकिस्तान जाधव को फांसी नहीं दे सकता।
कोर्ट ने ये भी कहा था कि वियना समझौते के तहत जाधव को राजनयिक मदद दी जानी चाहिए थी। काटजू ने अपने फेसबुक पोस्ट पर ये भी लिखा कि अब निश्चित है कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को लेकर अंतरराष्ट्रीय अदालत जाएगा।
ऐसी स्थिति में भारत अब आईसीजे के फैसले पर कुछ कह भी नहीं पाएगा। पाकिस्तान जाधव के मामले को लेकर आईसीजे ले जाने को लेकर खुश होगा, क्योंकि अब वह कई मुद्दे को उठा सकता हैं खासकर कश्मीर को। कश्मीर मुद्दे में किसी और के हस्तक्षेप का हम हमेशा से विरोध करते आए हैं। आईसीजे जाकर हमने भानुमती का पिटारा खोल दिया है।
काटजू के इस बयान को पाकिस्तानी मीडिया ने जोर-शोर से चलाया और इसने काफी सुर्खियां भी बटोरीं।
Next Story
Top