Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऐसे बुझेगी बुंदेलखंड की प्यास

उपयोग की गई सिंचाई क्षमता (आईपीयू) के बीच खाई को पाटने के लिए नहर नेटवर्क में कमियों को सुधारना, सिंचाई में जल उपयोग क्षमता बढ़ाना और प्रत्येक खेत को जल सप्लाई सुनिश्चित करना तथा जल उपयोगकर्ता संघों को सिंचाई प्रणाली का नियंत्रण और प्रबंधन हस्तांतरित करना है।

Next Story
Top