Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देश के सामने एटम बम के इस्तेमाल पर बोले रक्षा मंत्री पर्रिकर

पर्रिकर ने कहा कि मौजूदा परमाणु नीति 1998 में सरकार ने बनाई

देश के सामने एटम बम के इस्तेमाल पर बोले रक्षा मंत्री पर्रिकर
नई दिल्ली. आज हर तरफ भारत के बारे में चर्चा की जा रही है और वही दूसरी तरफ रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी देश के सामने अपना विचार रखा। रक्षा मंत्री ने एक बुक रिलीज कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। दरअसल सैद्धांतिक रूप से भारत संघर्ष होने की स्थिति में पहले परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल नहीं करने की बात कहता रहा है। पाकिस्‍तान ने इस तरह की कोई बात नहीं कही है।
भारत की परमाणु नीति पर बोलते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि यदि कोई मौजूदा लिखित रणनीति है या आपने इस तरह का कोई स्‍टैंड ले रखा है तो मैं समझता हूं कि आप वास्‍तव में इस मामले में अपनी क्षमताओं से दूर हट रहे हैं...देश में बहुत सारे लोग पहले परमाणु हथियार इस्‍तेमाल नहीं करने संबंधी नीति के बारे में कहते हैं लेकिन मुझे इस मामले में अपने आपको क्‍यों बांधना चाहिए? मैं तो कहता हूं कि हम एक जिम्‍मेदार परमाणु शक्ति संपन्‍न राष्‍ट्र हैं और मैं इसका गैर जिम्‍मेदाराना ढंग से इस्‍तेमाल नहीं करुंगा। ये मेरी सोच है।
हालांकि इसके साथ ही उन्‍होंने जोर देकर कहा कि उनके इस बयान को इस संदर्भ में नहीं देखना चाहिए कि सरकार ने अपनी परमाणु नीति बदल दी है। उन्‍होंने कहा हो सकता है कि कुछ (चैनल) कल यह फ्लैश चलाने लगें कि परमाणु नीति बदल गई लेकिन ऐसा नहीं है। तो वही दूसरी तरफ परमाणु हमले का संकेत देने पर मंत्रालय ने किया किनारा कर लिया है। उनके इस बयान के बाद मंत्रालय ने बताया कि ये उनका निजी विचार है। यह मंत्रालय का आधिकारिक बयान नहीं है।
गौरतलब है कि 1998 में कई परमाणु परीक्षण करने के बाद भारत ने मौजूदा परमाणु नीति को अपनाया। जवाब देते हुए उसके कुछ ही हफ्तों के भीतर पाकिस्‍तान ने भी कई परमाणु परीक्षण किए। 2014 के चुनावी घोषणापत्र में इस संबंध में कहा था कि मौजूदा समय की चुनौतियों के मद्देनजर इस नीति की समीक्षा करेगी और इसे अपडेट करेगी।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top