Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पर्रिकर का पार्टी के लिए समर्पणः गोवा में भाजपा के लिए माने जाते थे ''संकट मोचक''

देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक आईआईटी मुंबई से इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बावजूद मनोहर परिकर ने राजनीतिक आसमान की बुलंदियों तक खुद को पहुंचाकर उदाहरण स्थापित किया। भाजपा उन्हें गोवा के लिए अपना ''संकट मोचक'' मानती है।

पर्रिकर का पार्टी के लिए समर्पणः गोवा में भाजपा के लिए माने जाते थे

देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक आईआईटी मुंबई से इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बावजूद मनोहर परिकर ने राजनीतिक आसमान की बुलंदियों तक खुद को पहुंचाकर उदाहरण स्थापित किया। भाजपा उन्हें गोवा के लिए अपना 'संकट मोचक' मानती है।

परिकर को गोवा में भाजपा के सामने आने वाली परेशानियों का एकमात्र हल माना जाता था। देश के सभी राजनीतिक दलों से सम्मान पाने वाले परिकर ने गोवा में भाजपा को शीर्ष पार्टी बनाने में अहम योगदान दिया। इस दौरान उन्होंने राज्य में कई बार भाजपा को राजनीतिक संकट से उबारा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक से तीन साल तक देश के रक्षामंत्री और चार बार गोवा के मुख्यमंत्री भी बने, लेकिन उनकी ख्याति हमेशा आम आदमी जैसा सादगी भरा जीवन जीने के लिए मशहूर रही।

क्षेत्रीय दलों ने दे दिया समर्थन
संकट मोचक के तौर पर उनकी हैसियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 2017 में विधानसभा चुनावों में भाजपा के खाते में महज 14 सीट आई थी, जबकि कांग्रेस ने 16 सीट हासिल की थी।
इसके बावजूद परिकर के महज रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा देकर राज्य में वापस लौटते ही क्षेत्रीय दलों ने भाजपा को समर्थन देने की घोषणा कर दी थी। इसे उनकी राजनीतिक स्वीकार्यता की भी पुष्टि माना जाता है।
Loading...
Share it
Top