Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदी: मनमोहन ने पूछे मोदी से सवाल, जेटली ने दिए करारे जवाब

मनमोहन ने लोकसभा चुनाव के बाद दूसरी बार किसी बहस में हिस्सा लिया है।

नोटबंदी: मनमोहन ने पूछे मोदी से सवाल, जेटली ने दिए करारे जवाब
X
नई दिल्ली. नोटबंदी को लेकर विपक्ष की मांग पर गुरुवार को राज्यसभा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। मोदी के संदन में पहुंचते ही सभापति के सामने ही सभी दलों ने सहमति बनाई कि अब नोटबंदी पर चर्चा बहाल होनी चाहिए जो रोज हंगामे के चलते नहीं हो पा रही थी। इस बार विपक्ष की तरफ से चर्चा में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हिस्सा लिया। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मनमोहन सिंह ने सीधा पीएम मोदी पर निशाना साधा। मनमोहन ने कहा कि पीएम मोदी आपको इस बात पर ध्यान देना होगा कि इस एलान से आम लोगों को परेशानी हुई है। आपके इस एलान के बाद पैसे के लिए 60-65 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे देश के लोगों का देश की बैंकिंग और करंसी सिस्टम में विश्वास कम हो रहा है।
मनमोहन के सवाल
पूर्व पीएम ने पूछा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से पूछना चाहता हूं कि वह किसी ऐसे देश का नाम बताएंगे, जहां लोग अपने पैसे बैंक में जमा तो कर सकते हैं, लेकिन निकाल नहीं सकते हैं? पीएम मोदी ने कहा था कि 50 दिन दीजिए, लेकिन गरीब लोगों के लिए 50 दिन बहुत होते हैं। इसका असर जीडीपी पर भी पड़ेगा। यह 2% कम हो जाएगी। नोटबंदी से एग्रीकल्चर सेक्टर, स्माल स्केल इंडस्ट्री, अनऑर्गनाइज्ड सेक्टर में काम करने वालों को काफी असर पड़ेगा। नोटबंदी के लिए रोज-रोज नियम बनाना ठीक नहीं है। पीएमओ और आरबीआई नोटबंदी को पूरी तरीके से लागू करने में फेल रहा है। मैं पीएम से अपील करता हूं कि वे प्रैक्टिकल, ऐसे तरीकों को खोजें और ऐसे कदम उठाएं जिससे लोगों को नोटबंदी से राहत मिले।
जेटली के करारे जवाब
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मनमोहन सिंह के सवालों पर पलटवार करते हुए कहा कि सरकार का रवैया स्पष्ट है कि चर्चा हो और जो कदम उठाए हैं और आज क्या स्थिति है। सरकार के कदम का सार्वजनिक जीवन और व्यावसायिक जीवन पर सरकार उसे भी स्पष्ट करेगी। 2004 से 2014 तक जो लोग सरकार में थे, इस दौरान सबसे अधिक ब्लैक मनी का जनरेशन हुआ होगा, सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार हुआ होगा। टूजी से लेकर कॉमनवेल्थ गेम घोटाला होगा। ब्लैकमनी और क्राइम मनी बनाई जा रही थी। उन्हें स्कैम ब्लंडर नहीं लगता था, लेकिन हमारी सरकार ने इसके खिलाफ कदम उठाए तो पुरानी सरकार के मुखिया को ये ब्लंडर लगने लगा।
सपा सांसद पर हांसे पीएम-जेटली
वहीं राज्यसभा में नोटबंदी पर बहस के दौरान सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री जी आपने तो वित्तमंत्री अरुण जेटली तक को कॉन्फिडेंस में नहीं लिया, कितना सच है पता नहीं, लेकिन अगर लिया होता तो वह हमें कान में जरूर बता देते। यह सुनकर पूरे सदन में ठहाके लगने लगे। खुद पीएम मोदी और अरुण जेटली भी इस पर जोर-जोर से हंसे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आप (पीएम मोदी) जब भावुक होकर जान को खतरा होने की बात करते हैं तो हमें बहुत दुख होता है। आप उत्तर प्रदेश में बेफिक्र होकर घूम सकते हैं, क्योंकि हमारे राज्य में कानून व्यवस्था अच्छी है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top