Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी के चलते मणिपुर में अखबारों के दफ्तर हुए ठप

नोटबंदी के चलते मणिपुर के अखबारों में कारोबार नहीं चल रहा है।

नोटबंदी के चलते मणिपुर में अखबारों के दफ्तर हुए ठप
नई दिल्ली. पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन के दौरान देशभर में 500 और 1000 के नोट बंदी के ऐलान के बाद जहां एक तरफ पूरा देश परेशान है तो वहीं दूसरी तरफ मणिपुर में नोटबंदी के बाद व्यवसाय चलाने के लिए पैसे नहीं होने का हवाला देते हुए मणिपुर में अखबारों ने अपने कार्यालय बंद कर दिए हैं।
एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्ला पाओ दैनिक अखबार के मालिक व संपादक पाओनाम लबांगो मनगांग ने आईएएनएस को बताया कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती और पैसे की उपलब्धता नहीं हो जाती, तब तक कार्यालय बंद रहेंगे। मनगांग ने कहा कि विज्ञापनदाताओं के पास 500 और 2,000 रुपये के नए नोट नहीं हैं और प्रबंधन ने बंद हुए नोटों को स्वीकार करने से मना कर दिया है।
भाजपा के वरिष्ठ नेता निमयचंद लुवांग के मुताबिक कि जनवरी में होने वाले चुनावों पर इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा. प्रेस के बिना लोकतंत्र असम्भव है। कांग्रेस सरकार मुद्राओं की पर्याप्त संख्या में मांग करने में असफल रहा है। इसके अलावा अधिकांश बैंक सुरक्षा संबंधी चिंता के चलते नकदी नहीं चला रहे हैं। असोसिएशन ने प्रेस रिलीज में ये भी बताया है कि शुक्रवार को सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक धरना प्रदर्शन भी किया जाएगा। राज्य के सभी मीडिया कर्मियों, स्टाफ, डिस्ट्रीब्यूटर और पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों से इस प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की गई है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top