Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मणिपुर चुनाव: पहले चरण में 54 करोड़पति-167 दागी उम्मीदवार लड़ेंगे चुनाव

चार मार्च को 38 सीटों पर होगा मतदान।

मणिपुर चुनाव: पहले चरण में 54 करोड़पति-167 दागी उम्मीदवार लड़ेंगे चुनाव
X
नई दिल्ली. मणिपुर की 60 सीटों में से 38 सीटों पर पहले चरण में चार मार्च को चुनाव होना है। इस चुनाव की जंग में उतरे 167 प्रत्याशियों में 54 करोड़पतियों और आठ दागियों के फेहरिस्त में शामिल हैं।
मणिपुर विधानसभा के लिए 4 मार्च को होने वाले चुनाव के पहले चरण में अपनी किस्मत आजमा रहे 167 प्रत्याशियों में से 54 करोड़पतियों का भविष्य भी दांव पर लगा है, जबकि आठ उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है। एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) ने राज्य विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 17 राजनीतिक दलों के सभी 167 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण करने के बाद खुलासा किया है कि इनमें 14 निर्दलीय उम्मीदवार भी शामिल हैं। इस विश्लेषण रिपोर्ट के अनुसार यदि पार्टी वार नजर डाली जाए, तो कांगे्रस के 37 में से 21, भाजपा के 38 में से 21, नेशनल पीपुल्स पार्टी के 12 में से पांच, नार्थ ईस्ट इंडिया डेवलपमेंट पार्टी के 8 में से दो तथा राकांपा के 6 में से दो ने एक करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति घोषित की है।
एनपीएफ सबसे अमीर पार्टी
मणिपुर चुनाव के पहले चरण में उम्मीदवारों के शपथ पत्र के आधार पर प्रति उम्मीदवार औसत संपत्ति 1.04 करोड़ रुपए आंकी गई है। रिपोर्ट के अनुसार इस चरण में तीन सबसे धनी उम्मीदवारों में पहले स्थान पर नगा पीपुल्स फ्रंट के सेहपु हाओकिप हैं, जिनकी 13 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति है। इसके बाद भाजपा के के.कृष्ण कुमार की 9 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति और कांग्रेस के क्षेत्रियमायुम बीरेन सिंह की आठ करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति है।
दागियों पर दांव
जहां तक दागियों का सवाल है उसमें 167 में मात्र आठ उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले होने की घोषणा की है, जिनमें चार भाजपा व दो एमएनडीएफ तथा दो कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। जबकि इनमें से तीन उम्मीदवारों पर हत्या का प्रयास, धोखाधड़ी तथा बेईमानी जैसे गंभीर आपराधिक मामले हैं। इनमें दो भाजपा और एक कांग्रेस का उम्मीदवार शामिल है।
मणिपुर का परिदृश्य
मणिपुर में दो मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल-नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) और द पीपुल्स डमोक्रेटिक अलायंस (पीडीए) हैं। मणिपुर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में से क्षेत्रफल के आधार पर सबसे छोटे निर्वाचन क्षेत्र किसमथोंग और 13-सिंगजमी विधानसभा सीटें हैं, जिनका क्षेत्रफल 2-2 वर्ग किलोमीटर है। जबकि सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र फूंग्यार (एसटी) है, जिसका क्षेत्रफल 23.8 वर्ग किलोमीटर है। जहां तक मतदाताओं की संख्या के आधार का सवाल है उसमें सबसे छोटा निर्वाचन क्षेत्र तिपैमुख (एसटी) है, जिसमें 17,7,49 मतदाता हैं, जबकि माओ (एसटी) सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र है, जहां 53,5,57 मतदाता हैं। इसके अलावा मणिपुर के सभी 60 निर्वाचन क्षेत्रों में एक लाख से कम मतदाता हैं। मतदाता फोटो पहचान पत्र (ईपीआईसी) पाने वाले मतदाताओं को लिंग के आधार पर वगीर्कृत किया गया है, जिसे चार्ट में महिलाओं और पुरूषों के रूप में दशार्या गया है। इनके अलावा मतदाता सूची में अन्य मतदाताओं के बारे में नहीं बताया गया है और विभिन्न सेवाओं के कुल 11915 मतदाता हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top