Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मरीज के छाती पर गुदा था ऐसा टैटू, जिसे देख डॉक्टरों ने नहीं बचाई जान

क्या आपने कभी ये सुना है कि अस्पताल में कोई मरीज आए और डॉक्टर इस बात को लेकर असमंजस में हों कि उसकी जिंदगी बचाई जाए या नहीं।

मरीज के छाती पर गुदा था ऐसा टैटू, जिसे देख डॉक्टरों ने नहीं बचाई जान

क्या आपने कभी ये सुना है कि अस्पताल में कोई मरीज आए और डॉक्टर इस बात को लेकर कंफ्यूज हों कि उसकी जिंदगी बचाई जाए या नहीं। ये सुनने में बहुत अजीब लग सकता है कि लेकिन अमेरिका के फ्लोरिडा में ऐसा ही हुआ है।

फ्लोरिडा के एक हॉस्पिटल में डॉक्टर्स उस वक्त असमंजस में पड़ गए जब उनके पास बेहोशी की हालत में एक मरीज आया। इस मरीज ने अपनी छाती पर फिर से जिंदा मत होने देना (do not resuscitate) का टैटू गुदवा रखा था। इसे देखकर ही डॉक्टर्स में यह दुविधा पैदै हो गई।

द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसीन में गुरूवार को छपे डॉक्टरों के एक बयान के मुताबिक, 70 साल के एक मरीज को सास संबंधी और अन्य कारणों के चलते जैक्सन मेमोरियल अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

लेकिन जब इलाज करने वाले डॉक्टरों ने मरीज के शरीर पर गुदे टैटू को देखा तो वह असमंजस में पड़ गए। पहले तो मरीज का इलाज करने का डिसीजन लिया गया लेकिन जब इस बात पर मिलकर सबने विचार किया गया तो यह सामने आया कि शायद अपनी इच्छा पूरी करने के लिए मरीज ने यह कदम उठाया है।

इस टैटू के साथ उसके साइन भी थे, जिस पर डॉक्टरों ने डिस्कशन भी किया। इसके बाद डॉक्टरों को सलाह दी गई कि मरीज के टैटू के अनुसार उसकी इच्छा का सम्मान किया जाना चाहिए। डॉक्टरों ने यह सलाह मानी और उसका इलाज नहीं किया, जिससे रात में उसकी मौत हो गई।

Next Story
Top