Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम मोदी पहले अपने बैंक अकाउंट की डिटेल दें: ममता बनर्जी

ममता ने कहा कि मोदी पहले अपने बैंक खाते की जानकारी क्‍यों नहीं सार्वजनिक करते।

पीएम मोदी पहले अपने बैंक अकाउंट की डिटेल दें: ममता बनर्जी
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछा कि भाजपा के सांसदों और विधायकों को अपने बैंक खाते से लेन देन का नोटबंदी की अवधि के बाद का ही ब्योरा क्यों सौंपना चाहिए। यह राजग के सत्ता में आने के बाद से क्यों नहीं होना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘आठ नवंबर से ही खाते का ब्योरा क्यों होना चाहिए? केवल तीन हफ्ते। क्यों नहीं सारे ब्योरे ढाई साल के हो…? आपके 21 दिनों की नोट बंदी के बाद पूरा देश घरबंदी हो गया है, इसलिए यह तमाशा क्यों।’’
ममता ने कहा कि मोदी पहले अपने बैंक खाते की जानकारी क्‍यों नहीं सार्वजनिक करते। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने आज लखनऊ में एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने नोटबंदी को वापस लेने की मांग की। वह कल पटना में एक रैली को संबोधित करेंगी। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘हम लोगों के इस आंदोलन को कल दोपहर एक बजे पटना के गर्दनीबाग धरनास्थल ले जा रहे हैं।’’
ममता बनर्जी ने कहा, “सबके रुपए छीन के बोलते हैं हमारे पास बहुत रुपए हो गए। मोदी जी जबरदस्ती कर रहे हैं।” उन्होंने कहा, “बिग बाजार में छुट्टा मिलेगा लेकिन कारपोरेटिव बैंक में गरीब और खेती के लिए नहीं मिलेगा।” नोटबंदी को बड़ा घोटाला और ‘ब्लैक इमरजेंसी’ करार देते हुए ममता ने इसके खिलाफ अभियान को जनान्दोलन बनाने का आह्वान किया और कहा कि यह आजादी की लड़ाई है और हमें इसे छोड़ना नहीं चाहिये। मोदी के कारण देश की आजादी को खतरा है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान एक व्यक्ति की मर्जी से नहीं बल्कि जनता की मर्जी से चलता है। मोदी को यह याद रखना होगा।
जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने भाजपा सांसदों और विधायकों से आठ नवंबर से 31 दिसंबर के बीच के बैंक खाते के लेन देन का ब्योरा एक जनवरी 2017 को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के पास जमा करने को कहा है। पीएम मोदी के आदेश के मुताबिक 8 नवंबर से 31 दिसंबर तक के सभी बैंक ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड्स अमित शाह के पास जमा कराने है। पीएम मोदी का यह आदेश सांसदों के अलावा बीजेपी के सभी विधायकों के लिए भी है।
बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि लोकसभा में पेश किया गया आईटी संशोधन विधेयक काले धन को सफेद में बदलने के लिए नहीं, बल्कि गरीबों से लूटी गई राशि का उन्हीं के कल्याण में इस्तेमाल करने के लिए है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top