Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mamata Vs CBI : ममता बनर्जी के धरने पर नेताओं की बयानबाजी जारी, अनिल विज ने दिया विवादित बयान

पश्चिम बंगाल में शारदा चिटफंड घोटाला मामले से पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ''संविधान बचाओ'' धरने पर बैठ गई। धरने पर बैठने के बाद सभी पार्टियों के नेताओं ने अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

Mamata Vs CBI : ममता बनर्जी के धरने पर नेताओं की बयानबाजी जारी, अनिल विज ने दिया विवादित बयान
पश्चिम बंगाल (West Bengal) में शारदा चिटफंड घोटाला (Sharda Chitfund Scam) मामले से पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार (Police Commissioner Rajeev Kumar) से पूछताछ के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) 'संविधान बचाओ' धरने पर बैठ गई। धरने पर बैठने के बाद सभी पार्टियों के नेताओं ने अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।
ममता बनर्जी के धरने पर बैठने के बाद सबसे पहसे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यावद (Akhilesh Yadav) ने उनके इस फैसले का समर्थन किया है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए देशभर का विपक्ष एकजुट है। सीबीआई का एक बार फिर दुरुपयोग किया गया।
वहीं पूर्व पीएम और जेडीएस के वरिष्ठ नेता एचडी देवगौड़ा (HD Deve Gowda) ने कहा कि सीबीआई कोलकाता पुलिस कमिश्नर को कल गिरफ्तार करने गई। यह सीबीआई का दुरुपयोग है। यह इमरजेंसी से बहुत खराब है। जिस तरह से कल रात (पश्चिम बंगाल में) घटनाएं सामने आई हैं, उससे पता चलता है कि पीएम ने सीबीआई का इस्तेमाल करके रिएक्ट किया है।
वहीं ममता के धरने पर बैठने के बाद हरियाणा के मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि बचपन में जब आपने रामलीला देखी होगी। उस वक्त एक दृश्य आया करता था। जब ऋषि-मुनि यज्ञ क्या करते थे तो ताड़का वहां आकर विघ्न डाला करती थी। ठीक उसी प्रकार का रोल ममता बनर्जी कर रही हैं।
इसके बाद नैशनल कॉन्फ्रेंस के मुखिया फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdulla) ने कहा कि ममता बनर्जी का आरोप सही है। यह देश उसके तानाशाही बनने के खतरे में है। वे (केंद्रीय सरकार) इस देश के स्वामी नहीं हैं, लोग हैं।
वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Gulam nabi Azad) ने कहा कि जिस दिन से बीजेपी केंद्र में सत्ता में आई है। उन्होंने देश के लिए काम करने पर बहुत कम ध्यान दिया है। जबकि विपक्षी दलों को खत्म करने के लिए ज्यादा काम किया। यह पिछले 5 सालों से उनका ध्यान केंद्रित कर रहा है। बीजेपी से ज्यादा भ्रष्ट है पार्टी।
शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि अगर एक बड़े राज्य की सीएम धरने पर बैठती है तो यह एक गंभीर मामला है। क्या यह सीबीआई बनाम ममता बनर्जी या ममता बनर्जी बनाम भाजपा है, हम जल्द ही पता लगाएंगे। यदि सीबीआई का दुरुपयोग किया जा रहा है, तो यह राष्ट्र की गरिमा और एजेंसी (सीबीआई) की प्रतिष्ठा का मामला है।
वहीं भाजपा नेता और केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह (Birendra Singh) ने ममता को लेकर संसद में कहा कि यह सबसे अच्छा होगा अगर राज्य संविधान के दायरे में काम करते हैं, तो उन्हें अनुच्छेद 356 (राष्ट्रपति शासन) को ध्यान में रखना चाहिए।
भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकार (Prakash Javadekar) ने कहा कि कोलकाता और पश्चिम बंगाल में जो कुछ भी हो रहा है वह एक तरह का है। इससे पहले कभी भी पुलिस द्वारा जांच दल को हिरासत में नहीं लिया गया। यह लोकतंत्र की हत्या है।
आगे कहा कि हम ममता बनर्जी से पूछना चाहते हैं कि वह धरना क्यों कर रही हैं, वह किसे ढाल बनाना चाहती हैं? पुलिस कमिश्नर या खुद?
Next Story
Top