Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी: संसद से लेकर राष्ट्रपति भवन तक ममता का मार्च, केजरीवाल गायब

गोयल ने कहा कि सरकार के इस फैसले से ईमानदार लोग खुश हैं।

नोटबंदी: संसद से लेकर राष्ट्रपति भवन तक ममता का मार्च, केजरीवाल गायब
नई दिल्ली. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रातों-रात 500 और 1000 के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने आज संसद भवन से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकल। इस मार्च में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना के सांसद भी शामिल हुए। लेकिन नोटबंदी का लगातार विरोध कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस मार्च से दूर रहे। हालांकि आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने मार्च में हिस्सा लिया। नोटबंदी के मुद्दे पर ममता बनर्जी राष्ट्रपति को ज्ञापन सौपेंगी।
उमर से मांगा साथ-येचुरी को किया फोन
ममता ने मंगलवार को कोलकाता में कहा था कि मैं नोटबंदी के मुद्दे पर राष्ट्रपति से मिलूंगी। मैं अपने 40 सांसदों के साथ उनसे मिलने जाऊंगी। मैंने विभिन्न राजनीतिक दलों से बात की है। अगर वे मेरे साथ चलना चाहते हैं, तो अच्छी बात है। अगर नहीं तो मैं अपने सांसदों के साथ ही जाऊंगी। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला मेरे साथ आ सकते हैं। इसके साथ ही ममता ने रविवार को अपनी घोर प्रतिद्वंद्वी माकपा के माकपा महासचिव सीताराम येचुरी को फोन किया और भाजपा एवं इसकी जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 'एकजुट होकर लड़ने' का आग्रह किया।
कांग्रेस का मोदी पर हमला
संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो गया है। आज पहले दिन लोकसभा दिवंगत सांसदों को श्रद्धांजलि देने के बाद स्थगित हो गई लेकिन राज्यसभा में नोटबंदी पर चर्चा हो रही है। विपक्ष समेत सर्वदलीय मांग पर राज्यसभा स्पीकर ने दो दिन के लिए इस मुद्दे पर चर्चा के लिए समय नियत किया है। सबसे पहले कांग्रेस की ओर आनंद शर्मा ने नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार को घेरा। उन्होंने सीधे-सीधे सरकार पर आरोप लगाया कि न तो नोटबंदी को लागू करने का तरीका ठीक है और न ही यह पूरा मिशन गोपनीय रखा गया। इससे जुड़ी तमाम सूचनाएं कई अखबारों में पहले ही छप गईं थीं।
नोटबंदी से घटेगी महंगाई
राज्यसभा में भाजपा सांसद पीयूष गोयल ने कहा कि आज पूरा देश सरकार के इस कदम का स्वागत कर रहा है। पहली बार देश में ईमानदार का सम्मान हुआ है और बेईमान का नुकसान... नोट बंदी से केवल कुछ लोगों का तकलीफ हो रही है। गोयल ने नोटबंदी से होने वाले लाभ से सदन को अवगत कराया। गोयल ने कहा नोट बंदी से महंगाई भी घटेगी। फैसला गुप्त रखने से बेइमान दुखी हैं। यी भ्रष्‍टाचार के खिलाफ जंग है।
मोदी ने विपक्ष से मांगा साथ
आपको बता दें, सत्र की पूर्व संध्या पर आयोजित सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी नेताओं से मुलाकात की और कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में सहयोग देने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ कराने का भी समर्थन किया। उन्होंने उम्मीद जतायी कि संसद का यह सत्र सार्थन होगा और इस संदर्भ में पिछले सत्र में जीएसटी विधेयक पारित कराने में सभी दलों के सहयोग को भी याद किया। इससे पहले, कांग्रेस के नेतृत्व में बुलायी गयी बैठक में सभी विपक्षी दलों ने सत्र के दौरान सरकार को बड़े नोटों को अमान्य करने के उसके कदम पर घेरने का निर्णय किया। बैठक में तृणमूल कांग्रेस, वाम दल, सपा, बसपा, जदयू, राजद, झामुमो समेत 13 विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top