Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब हिंदू वोटरों को लुभाने में जुटी ममता सरकार, कहीं करवाया भोजन तो कहीं बांटी गीता, ये है रणनीति

पश्चिम बंगाल के बोलपुर में तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को बड़े पैमाने पर ''ब्राह्मण और पुरोहित'' सम्मेलन आयोजित किया।

अब हिंदू वोटरों को लुभाने में जुटी ममता सरकार, कहीं करवाया भोजन तो कहीं बांटी गीता, ये है रणनीति

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम तुष्टीकरण की नीति पर घिरी तृणमूल कांग्रेस ने अब हिंदू तुष्टीकरण की ओर रूख कर लिया है। बोलपुर में तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को बड़े पैमाने पर 'ब्राह्मण और पुरोहित' सम्मेलन आयोजित किया।

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के करीबी कहे जाने वाले अनुब्रत मंडल ने पार्टी की ओर से आयोजित ब्राह्मण सम्मेलन में 8 हजार पुरोहितों को गीता और उपहार भेंट कर सम्मानित किया ।

इसे भी पढ़ेंः ATS ने जिसे पकड़ा वो आतंकी नहीं, दी क्लीन चिट

इस कार्यक्रम में अनुब्रत मंडल ने हिंदुत्व को लेकर बीजेपी पर जमकर हमला बोला। मंडल ने कहा कि वह साम्प्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए सभी धर्मों का सम्मेलन करते आ रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर ही अनुब्रत ने पुरोहितों का सम्मेलन का आयोजन किया था।

इसके साथ ही पंचायत चुनाव से पहले ब्राह्मण सम्मेलन के आयोजन के सहारे उनकी पार्टी हिंदुओं को एकजुट करने की कोशिश करती दिखी। 17 जनवरी को मुस्लिम सम्मेलन और 24 जनवरी को आदिवासी सम्मेलन का भी आयोजन किया जाएगा। इससे पहले ममता बनर्जी के गाय बांटने को लेकर भी विवाद हुआ था।

जल्लादों से नहीं सीखना हिंदुत्व

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के ब्राह्मण सम्मेलन को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दिलीप घोष ने प्रतिक्रिया में कहा कि टीएमसी हिंदुत्ववादी नहीं हो सकती।

भाजपा ही एकमात्र हिंदुत्ववादी पार्टी है। बंगाल की जनता जानती है कि जल्लादवाहिनी किस पार्टी के लिए काम करती है। ब्राह्मण सम्मेलन से पापों का प्रायश्चित नहीं होगा, गाय दान करने पर भी पाप की क्षमा नहीं मिलने वाली।

Share it
Top