Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mahatma Gandhi Death Anniversary 2019: महात्मा गांधी कैसे बनें ''राष्ट्रपिता'', जानें

30 जनवरी का दिन शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन इस लिए मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गांधी की नाथूराम गोडसे ने आज के ही दिन हत्या कर दी थी (Mahatma Gandhi Death Anniversary 2019)। अगर किसी से पूछा जाए कि महात्मा गांधी कौन थे तो वह यही बताएगा की महात्मा गांधी राष्ट्रपिता हैं।

Mahatma Gandhi Death Anniversary 2019: महात्मा गांधी कैसे बनें
Martyrs Day/ Mahatma Gandhi
30 जनवरी का दिन शहीद दिवस (Martyrs Day) के रूप में मनाया जाता है। यह दिन इस लिए मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गांधी की नाथूराम गोडसे ने आज के ही दिन हत्या कर दी थी (Mahatma Gandhi Death Anniversary 2019)। अगर किसी से पूछा जाए कि महात्मा गांधी कौन थे तो वह यही बताएगा की महात्मा गांधी राष्ट्रपिता हैं।
लेकिन उन्हें राष्ट्रपिता किसने बनाया। उन्हें राष्ट्रपिता की उपाधि किसने दी। महात्मा गांधी को सबसे पहले सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) ने राष्ट्रपिता कहकर संबोधित किया था। 4 जून 1944 को सिंगापुर रेडियो पर बोलते हुए सुभाष चंद्र बोस ने महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहा था। कई जगह पर प्रसंग मिलता है कि नेताजी और गांधी जी एक दूसरे का खूब सम्मान करते थे।
लेकिन नेताजी गांधी के विचारों से सहमत नहीं थे। उनका मानना था कि अहिंसा के मार्ग से स्वतंत्रता हासिल नहीं की जा सकती है। नेताजी का मानना था कि आजादी के लिए आंदोलन चलाना चाहिए लेकिन जरूरत पड़ने पर हथियार उठाने से पीछे नहीं हटना चाहिए। जबकि गांधी जी का मानना था कि अहिंसा के रास्ते से ही आजादी पाई जा सकती है। महात्मा गांधी के कई अहिंसक आंदोलनों से अंग्रेजों को कई मोर्चों पर झुकना पड़ा।

आधिकारिक तौर पर नहीं हैं राष्ट्रपिता

भले ही देश में लोग महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहकर संबोधित करते हों। लेकिन आधिकारिक तौर पर उन्हें कभी भी राष्ट्रपिता नहीं कहा गया। एक आरटीआई में पता चला था कि महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता घोषित करने के संबंध में सरकार को अधिसूचना जारी नहीं कर सकती।
Next Story
Top