Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महाराष्ट्र का चंद्रपुर बना देश का सबसे गर्म इलाका, देश के दूसरे हिस्सो का क्या है हाल जाने मौसम विभाग की रिपोर्ट में

महाराष्ट्र के विदर्भ इलाके में स्थित चंद्रपुर शुक्रवार को पूरे देश में सबसे गर्म रहा। चंद्रपुर में देश का अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। यहां पारा 47.3 डिग्री पहुंच गया।

महाराष्ट्र का चंद्रपुर बना देश का सबसे गर्म इलाका, देश के दूसरे हिस्सो का क्या है हाल जाने मौसम विभाग की रिपोर्ट में

महाराष्ट्र के विदर्भ इलाके में स्थित चंद्रपुर शुक्रवार को पूरे देश में सबसे गर्म रहा। चंद्रपुर में देश का अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। यहां पारा 47.3 डिग्री पहुंच गया। कई जगह रात का तापमान भी रिकॉर्ड स्तर पर रहा।

उधर नागपुर में कड़ी धूप में बैलों से काम करवाने पर मालिक के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया है। बैलों से काम लेने को अपराध मानते हुए पीपल फॉर एनीमल संस्था की शिकायत पर दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

नागपुर में पारा सामान्य से 2 डिग्री ऊपर

नागपुर में तापमान 44.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि गुरुवार के मुकाबले ये कम रहा लेकिन फिर भी सामान्य से 2 डिग्री ऊपर है। वहीं न्यूनतम तापमान भी 28.2 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से 1 डिग्री ऊपर रहा।

बैलों से काम लेने पर एफआईआर दर्ज

नागपुर में गर्मी को देखते हुए हीट एक्शन प्लान लागू है। इसके तहत दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक मजदूरों से काम नहीं लिया जा सकता। ऐसे में बैलों से काम लेने पर दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। पीपुल फॉर एनिमल संस्था की शिकायत पर लकड़गंज थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

ये भी पढ़ेःजम्मू-कश्मीरः सेना ने किया हिजबुल मुजाहिदीन के मॉड्यूल का भंडाफोड़, 4 लोग गिरफ्तार

दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा गया है। ये लोग भंडारा रोड पर दो बैलगाड़ियों पर क्षमता से ज्यादा लकड़ियां लाद कर ले जा रहे थे। पीपल फॉर एनिमल की सचिव करिश्मा गलानी ने पुलिस से इस मामले की शिकायत की है।

पशुओं के लिए क्या है कानून?

ड्राफ्ट एंड पैक एनीमल एक्ट 1955 के सेक्शन-6 और पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 के सेक्शन-11 के तहत बैल, घोड़ा, गधा या इनकी नस्ल के अन्य जानवरों से 37 डिग्री से ज्यादा तापमान में काम नहीं लिया जा सकता।

मथुरा में फिर तूफान की दस्तक, 167.02 किमी की गति से चल रही हवाएं, हाईअलर्ट

मथुरा। मौसम विभाग ने जिस तूफान की चेतावनी दी थी, उसकी शुरुआत हो गई है। तूफान मथुरा में आ चुका है। इसकी तीव्रता 167.02 किमी प्रति घंटा है।

मौसम विभाग ने आगरा से इटावा तक के सभी गांव-शहरों को अलर्ट पर रहने का सुझाव दिया है। राजधानी लखनऊ से सटे सभी इलाकों और गोंडा, बस्ती एंव गोरखपुर जोन को भी हाई अलर्ट पर रहने का आदेश दिया गया है।

मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि तूफान तेजी से आगे बढ़ रहा है। तूफान की चपेट में रात-दिन में कई जिले आ सकते हैं। तूफान की वजह से प्रशासन ने प्रदेश में कई जगह स्कूल बंद करने का निर्देश दिया है।

ये भी पढ़ेःआरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर फिर से 15 मई को उतरेंगे सड़को पर

गाजियाबाद, मेरठ समेत कई जगह मंगलवार को स्कूल बंद रहेंगे। आगरा में भी विभाग, नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन को पूरा अलर्ट कर किया गया है। वहीं कक्षा एक से लेकर हाई स्कूल तक के बच्चों की छुट्टी के आदेश किए गए हैं।

पहाड़ी राज्यों आंधी-तूफान की आशंका

बता दें कि मौसम विभाग ने आज ही उत्तरी राज्यों जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में आंधी तूफान की चेतावनी जारी की थी। विभाग की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, इन राज्यों में तेज हवाओं के साथ आंधी आने की चेतावनी जारी की गई।

इसकी वजह से हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के कुछ स्थानों पर धूल भरी आंधी आने की आशंका है। इसका असर पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में भी देखने को मिलेगा। मौसम विभाग ने अपने बुलेटिन में कहा था कि ये राज्य 11 मई तक तूफान की चपेट में आ सकते हैं।

इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उड़ीसा, पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों, केरल और अंदरूनी कर्नाटक के कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ आंधी-तूफान की आशंका जतायी।

जबकि राजस्थान में धूल भरी आंधी और असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में तेज बारिश का अनुमान व्यक्त किया गया है।

Next Story
Top