Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महाराष्ट्रः दूध के न्यूनतम मूल्य को लेकर धरने पर बैठे किसान, विरोध में कलेक्टर ऑफिस के बाहर फ्री में बांटेंगे दूध

किसान दूध की कीमतों को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। महाराष्ट्र के किसानों की प्रशासन से दूध की कीमत के न्यूनतम मूल्य को 50 रूपये प्रति लीटर रखने की सिफारिश की थी।

महाराष्ट्रः दूध के न्यूनतम मूल्य को लेकर धरने पर बैठे किसान, विरोध में कलेक्टर ऑफिस के बाहर फ्री में बांटेंगे दूध
महाराष्ट्र में सरकार की अनदेखी से नाराज किसानों ने एक बार फिर प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस बार किसान दूध की कीमतों को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। दरअसल महाराष्ट्र के किसानों की प्रशासन से दूध के कीमतों को तय करने की सिफारिश की थी।
जिसमें किसानों ने प्रशासन से दूध की कीमत के आधार मूल्य को 50 रूपये प्रति लीटर रखने की सिफारिश की थी। किसानों का आरोप है कि लेकिन प्रशासन ने इस और कोई ध्यान नहीं दिया।
जिसके चलते किसानों को भारी नुकसान ऊठाना पड़ रहा हैं। दरअसल किसानों की मांग हैं कि उन्हें मजबूरन दूध 17 प्रति लीटर बेचना पड़ता हैं। जिसे के चलते किसानों को नुकसान उठाने पर मजबूर होना पड़ता हैं।
किसानों का आरोप है कि हमने पहले भी कई बार सरकार और स्थानीय प्रशासन से इस ओर कोई सकारात्मक कदम उठाने की अपील की थी। लेकिन सरकार ने अभी तक किसानों की इस मांग को लेकर कोई भी आश्वासन या कदम नहीं उठाया हैं।
जिसके चलते अब दूध की कीमतों के वाजिब दाम नहीं मिलने के कारण महाराष्ट्र की सभी किसानों ने तय किया हैं कि हम इस लेकर अपना प्रदर्शन जारी करेंगें। और किसानों ने साथ ही में यह भी तय किया हैं कि सभी किसान कलेक्टर ऑफिस के बाहर 3 से 9 मई तक फ्री में दूध बेचेंगे।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में किसानों की अनदेखी का यह पहला मामला नहीं हैं। अभी पिछले कुछ समय पहले ही महाराष्ट्र के किसानों ने फसल के उचित दाम नहीं मिलने और किसानों से जुड़ी अन्य समस्याओं को लेकर मार्च निकाला था।

जिसमें हजारों की संख्या में महाराष्ट्र के किसानों ने पैदल यात्रा तय कर महाराष्ट्र विधानसभा का घेराव करने की धमकी दी थी। हालांकि अंत में महाराष्ट्र सराकर ने किसानों की सभी मांगे मांग ली थी। और जिसके बाद ही किसानों ने अपना प्रदर्शन वापिस लिया था।

Next Story
Top