Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भाईदूज-दिवाली से पहले महाराष्ट्र में बसों की हड़ताल, जनता बेहाल

त्योहार के सीजन में जहां महंगाई ने जीना दूभर किया हुआ है, वहीं महाराष्ट्र में बस हड़ताल ने जनता की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं।

भाईदूज-दिवाली से पहले महाराष्ट्र में बसों की हड़ताल, जनता बेहाल

त्योहार के सीजन में जहां महंगाई ने जीना दूभर किया हुआ है, वहीं महाराष्ट्र राज्य परिवहन (एमएसआरटीसी) कर्मचारियों की हड़ताल ने जनता की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं। महाराष्ट्र सरकार इस दिशा में आश्वासन के सिवा कुछ करती नहीं दिख रही है।

यह भी पढ़ें: नाराज पुलिस जवानों ने राजनाथ सिंह को नहीं दिया 'गार्ड ऑफ ऑनर'

महाराष्ट्र राज्य परिवहन के कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सोमवार आधी रात से हड़ताल पर चले गए हैं। कर्मचारी वेतन और अन्य भत्ते बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। इस बीच महाराष्ट्र परिवहन मंत्री दिवाकर राउते ने बताया है कि सभी कोर्ट ने इस हड़ताल को अवैध करार दे दिया है।

दिवाकर राउते का कहना है कि सरकार नाराज कर्मचारियों से बातचीत को तैयार है। लेकिन सभी कर्मचारियों की सातवें वेतन के मुताबिक तनख्वाह बढ़ाने की मांग को स्वीकार नहीं किया जा सकता है। बावजूद इसके कर्मचारियों की संवेदनाओं का सरकार सम्मान करती है।

राउते के इस बयान के बाद लगता नहीं है कि यह हड़ताल जल्द खत्म होने वाली है। कर्मचारी सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक ही वेतन-भत्ता चाहते हैं। दोनों पक्षों के अडिग रवैये से जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: ताजमहल विवाद में आजम भी कूदे, बोले- संसद, राष्ट्रपति भवन को भी गिरा दो

उधर, बस हड़ताल से आम लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का शहर में घूमना काफी महंगा हो गया है। मेट्रो और लोकल ट्रेन पर जनता का भार पहले से बहुत ज्यादा बढ़ गया है। त्योहार के मौके पर घर जाने वाले बहुत से लोग मुंबई में ही अटक गए हैं।

Share it
Top