Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भीड़ ने भाजपा विधायक और उनकी दूसरी पत्नी को पीटा

महाराष्ट्र की अर्नी विधानसभा से भाजपा विधायक राजू नारायण तोड़साम और उनकी ‘दूसरी पत्नी’ की भीड़ ने सड़क पर पिटाई कर दी। भीड़ का कहना था कि विधायक राजू नारायण को शनिवार को महाराष्ट्र में यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच साझा करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

भीड़ ने भाजपा विधायक और उनकी दूसरी पत्नी को पीटा
X

महाराष्ट्र की अर्नी विधानसभा से भाजपा विधायक राजू नारायण तोड़साम और उनकी ‘दूसरी पत्नी’ की भीड़ ने सड़क पर पिटाई कर दी। भीड़ का कहना था कि विधायक राजू नारायण को शनिवार को महाराष्ट्र में यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच साझा करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

बताया गया कि घटना उस वक्त की है, जब भाजपा विधायक अपनी ‘दूसरी पत्नी’ प्रिया शिंदे-तोड़साम के साथ एक खेल टूर्नामेंट का उद्घाटन कर लौट रहे थे। प्रिया शिंदे और पार्टी समर्थक तोड़साम के 42वें जन्मदिन का जश्न मना रहे थे कि तभी विधायक की पहली पत्नी अर्चना तोड़साम और उनकी सास कुछ समर्थकों के साथ उनके वाहनों के समीप पहुंचीं और ‘दूसरी पत्नी’ को भला बुरा कहा।

कुछ देर चली जुबानी जंग के बाद अर्चना और उनकी सास ने प्रिया को थप्पड़, लात और घूंसे मारने शुरू कर दिए। प्रिया हाथ जोड़कर दया के लिए चिल्लाती रहीं। पत्नी को बचाने की कोशिश में विधायक पर हुआ हमला जब तोड़साम ने प्रिया शिंदे को बचाने का प्रयास किया तो उनपर उनकी मां, पहली पत्नी और गुस्साए लोगों ने हमला कर दिया। लोग अर्चना के लिए न्याय की मांग कर रहे थे।

अर्चना एक जनजातीय स्कूल में अध्यापिका हैं। प्रत्यक्षदर्शी द्वारा बनाया गया घटना का वीडियो वायरल हो गया है। भाजपा विधायक की व्यापक आलोचना हो रही है और अर्चना को सहानुभूति मिल रही है।

बेशर्मी भरा व्यवहार

किसान नेता और वसंतरा नाइक शेती स्वावलंबन समिति के अध्यक्ष किशोर तिवारी ने घटनाक्रम पर गंभीर राय व्यक्त करते हुए कहा कि विधायक का ‘दूसरी पत्नी’ के साथ सार्वजनिक रूप से बाहर आना बेशर्मी भरा व्यवहार है। तिवारी ने बुधवार को कहा,उन्हें पहली पत्नी और अपने दो नाबालिग बच्चे को न्याय देना चाहिए, जिन्हें उन्होंने दूसरी महिला के लिए छोड़ दिया है।

उन्होंने अर्चना से आठ साल पहले शादी की थी। अगर वह 48 घंटे के भीतर बात नहीं मानते हैं तो हम प्रधानमंत्री से अपील करेंगे कि वह शनिवार को अपनी पंधारकावाडा यात्रा में इस मुद्दे को हल करें।

मौके पर पहुंची पुलिस ने बचाया

घटना के थोड़ी देर बाद पुलिस वहां पहुंची और गुस्साई भीड़ के बीच से तोड़साम और प्रिया शिंदे को सुरक्षित बाहर निकालने में सफल रही। पुलिस ने प्रिया को अस्पताल में भर्ती कराया, उन्हें चेहरे पर चोट आई है।

पंधारकावाडा पुलिस थाने के एक अधिकारी डी.एस. तेम्भारे ने सार्वजनिक रूप से हुए हंगामे की पुष्टि करते हुए बताया कि प्रिया और अर्चना दोनों महिलाएं अपनी सास के साथ बाद में पुलिस थाने आई थीं और उन्होंने अपने विवाद को आपसी सहमति से सुलझाने की बात कही। इसलिए कोई औपचारिक शिकायत नहीं दर्ज हुई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story