Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आखिर कौन है यह शाही राजा, जिसने दिया था रॉल्य रॉयस कंपनी को करारा जवाब

अलवर के महाराज ने रॉल्स रॉयस की सात अलग-अलग तरह की गाड़ियां खरीदी थी

आखिर कौन है यह शाही राजा, जिसने दिया था रॉल्य रॉयस कंपनी को करारा जवाब
X
नई दिल्ली. भारत के राजा-महाराजा संपूर्ण विश्व में अपने शाही अंदाज के लिए जाने जाते हैं। स्वतंत्र युग से पूर्व एक समय ऐसा भी था जब दुनिया की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी रॉल्स रॉयस को एक भारतीय राजा से माफी मांगनी पड़ी थी। इस दुर्घटना के बाद इस कंपनी ने को एक बड़ा सबक मिला।
1920 में अलवर के महाराजा जय सिंह एक बार इंग्लैंड में स्थित रॉल्स रॉयस के शोरूम के बाहर से गुजर रहे थे। महाराज ने उस समय कोई खास शाही अंदाज वाली पोशाक नहीं पहनी थी। महाराज की नजर एक कार पर पड़ी। महाराज उस कार का टेस्ट ड्राइव करना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने वहां खड़े एक सेल्समैन को टोका। सेल्समैन ने महाराज के साथ भारत से आए साधारण व्यक्तियों जैसा बर्ताव किया और उनको टेस्ट ड्राइव करने से मना कर दिया।
सेल्समैन का यह बर्ताव महाराज को पसंद नहीं आया। उस व्यक्ति के व्यवहार से वह खासे नाराज थे। उसी वक्त महाराज ने दुनिया की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी रॉल्स रॉयस को सबक सिखाने का मन बना लिया।
महाराज तुरंत अपने होटल पहुंचे और वहां अपने लोगों से दोबारा उसी शोरूम में चलने को कहा। महाराज के वहां पहुंचने पर रॉल्स रॉयस की कंपनी ने इस बार उनका शाही अंदाज में स्वागत किया। महाराज ने रॉल्स रॉयस की सात अलग-अलग तरह की गाड़ियां खरीदी। कुछ समय बाद दुनिया में सबसे महंगी, शाही कार बनाने वाली कंपनी रॉल्स रॉयस को एक बड़ा झटका लगा।
दरअसल महाराज जय सिंह कारों के साथ भारत उस सेल्समैन को भी ले आए थे जिसने महाराज को टेस्ट ड्राइव लेने से इंकार कर दिया था।

नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर -

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top