Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुष्कर्म करने वालों को होगी फांसी, डब्ल्यूसीडी मंत्रालय पोक्सो कानून में लाएगा संशोधन: मेनका गांध

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची से गैंगरेप का मामला सामने आने के बाद अब सरकार ने नाबालिग बच्चियों से दुष्कर्म के कानून में दोषी को फांसी की सजा देने का मन बनाया है।

दुष्कर्म करने वालों को होगी फांसी, डब्ल्यूसीडी मंत्रालय पोक्सो कानून में लाएगा संशोधन: मेनका गांध
X

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची से गैंगरेप का मामला सामने आने के बाद अब सरकार ने नाबालिग बच्चियों से दुष्कर्म के कानून में दोषी को फांसी की सजा देने का मन बनाया है। इसकी जानकारी देते हुए केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री (डब्ल्यूसीडी) मेनका गांधी ने शुक्रवार को कहा कि 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ हैवानियत करने वाले को फांसी की सजा दी जा सकती है।

इसके लिए मंत्रालय प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सैक्सुअल ऑफेंस (पोक्सो) एक्ट में संशोधन लेकर आएगा। गौरतलब है कि कठुआ का मामला करीब चार महीने पुराना है। यह इस साल की शुरुआत में 10 जनवरी को हुआ था।

इलाके के जंगलों से आठ साल की बच्ची को अगुवा किया गया था। एक मंदिर में उसे बंधक बनाकर सामुहिक दुष्कर्म किया गया और बाद में गला घोंटकर हत्या कर दी गई। मामले से जुड़े आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मेनका ने कहा कि न केवल कठुआ बल्कि इस प्रकार से देश में बच्चियों के साथ कहीं भी होने वाली दुष्कर्म की घटनाओं से उन्हें गहरा दुख पहुंचता है। मैं और मेरा मंत्रालय यह विचार कर रहे हैं कि 12 साल से छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार करने वाले दोषियों को पोक्सो कानून में संशोधन कर फांसी की सजा दी जा सके।

मंत्रालय में सचिव राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि हमारा मंत्रालय पोक्सो कानून में संशोधन करने के लिए कानून मंत्रालय से बातचीत कर रहा है। जिससे 12 साल से छोटी लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने वाले दोषियों के लिए फांसी की सजा का प्रावधान किया जा सकेगा।

गृह मंत्री ने भी यह साफ कहा है कि बलात्कार के मामलों में एफआईआर दर्ज करने में देरी नहीं की जानी चाहिए। साथ ही ऐसे किसी भी मामले को उनके संज्ञान में लाया जाना चाहिए। बच्चियों की उम्र की सीमा 12 साल तक रखने को लेकर डब्ल्यूसीडी सचिव ने कहा कि इस बारे में कानून मंत्रालय से मंत्रणा की जा रही है।

क्या है पोस्को एक्ट-

पोस्को एक्ट यानि यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण। अभी तक पोस्को एक्ट के सेक्शन 3,4 और 6 के मुताबिक किसी भी व्यक्ति को रेप करने पर 10 साल से लेकर उम्र कैद की सजा का प्रवधान है। लेकिन अब कानून में संशोधन के मुताबिक 12 साल से कम उम्र की लड़की से रेप करने पर मौज की सजा का प्रावधान रखा जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top