Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

तलाकशुदा ''व्यभिचारी पत्नी'' नहीं कर सकती पति से गुजारे भत्ते का दावाः मद्रास हाईकोर्ट

महिला ने पूर्व पति से हर महीने एक हजार रुपए का गुजारा भत्ता मांगा था।

तलाकशुदा

चैन्नई. मद्रास हाईकोर्ट ने एक फैसले में कहा है कि कोई महिला अपने पति के अतिरिक्त किसी अन्य व्यक्ति से शारीरिक संबंध बनाती है और तलाकशुदा है तो वह महिला अपने पूर्व पति से गुजारा भत्ता का दावा नहीं कर सकती है। न्यायमूर्ति एस नागमुथु ने कहा कि यदि तलाकशुदा महिला ने अपने पति को धोखा दिया है तो उसे गुजारा भत्ता पाने का कोई हक नहीं होगा।

IPS संजीव भट्ट का 'सेक्स वीडियो' सामने आने पर मचा बवाल, गुजरात सरकार ने मांगा जवाब

मैजिस्ट्रेट ने अपने आदेश में कहा कि व्यभिचारी पत्नी, अलग हो चुके पति से गुजारा भत्ता का दावा नहीं कर सकती। यही कानून तलाकशुदा के मामले में भी लागू होगा।न्यायाधीश ने कहा, 'व्यभिचारी आचरण के आधार पर तलाक दी गई पत्नी भी अपने पूर्व पति से गुजारा भत्ता की हकदार नहीं होगी।'
न्यायाधीश ने एक सरकारी कर्मचारी द्वारा दायर एक याचिका को स्वीकार करते हुए यह निर्देश दिया है। कर्मचारी ने इस संबंध में रामनाथपुरम प्रधान जिला एवं सत्र अदालत के आदेश को चुनौती दी थी। गौरतलब है कि इस निचली अदालत ने सरकारी कर्मचारी को निर्देश दिया था कि वह अपनी पूर्व पत्नी को गुजारा भत्ता के रूप में 1,000 रुपये प्रति महीना दे। अपनी इस पूर्व पत्नी को कर्मचारी ने 2011 में व्यभिचार के आधार पर तलाक दे दिया था।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top