Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मद्रास हाईकोर्ट का अनोखा फरमान, एक बच्चा पैदा करने के लिए 2 हफ्ते की छुट्टी

मद्रास हाईकोर्ट में एक कैदी की पत्नी द्वारा दायर परिवार बढ़ाने के लिए 2 सप्ताह की छुट्टी की अर्जी को जज ने मंजूर कर लिया है।

मद्रास हाईकोर्ट का अनोखा फरमान, एक बच्चा पैदा करने के लिए 2 हफ्ते की छुट्टी

मद्रास हाईकोर्ट ने एक कैदी की याचिका पर सुनवाई के दौरान अनोखा फरमान सुनाया है। कोर्ट में एक कैदी की पत्नी द्वारा दायर परिवार बढ़ाने के लिए 2 सप्ताह की छुट्टी की अर्जी दी थी। जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया।

हाई कोर्ट जज एस.विमला देवी और जज टी. कृष्णा वल्ली की खंडपीठ ने सिद्दीक अली की पत्नी की याचिका पर सुनवाई करते हुए ये आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ेंः पकौड़ा पॉलिटिक्स पर बोले ओवैसी, ये 56 इंच का सीना सिर्फ मुस्लमानों के लिए

कोर्ट ने कहा कि ये समय है कि सरकार को कैदियों को बच्चा पैदा करने देने के लिए उनकी-उनकी पत्नियों के पास जाने देना चाहिए। क्योंकि कई देशों में कैदियों को इसी तरह के अधिकार दिए गए हैं।

जज ने सुनवाई के दौरान कहा कि कुछ देशों में कैदियों के संसर्ग अधिकार को मान्यता दी गई है। अगर कैदियों की संख्या अत्यधिक है तो सरकार को ऐसी समस्याओं के समाधान तलाशने चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः पद्मावत फिल्म विरोधः स्कूली बस हमले पर हरियाणा के मंत्री ने दी ये सफाई

बता दें कि वर्षिय सिद्दीक अली तिरुनेलवेली सेंट्रेल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं। कोर्ट ने जेल अधिकारियों को इस संबंध में प्रक्रिया का पालन करने और कैदी के जेल से बाहर रहने के दौरान उसे सुरक्षा देने का निर्देश दिया। मौजूदा मामले में अदालत ने कहा कि प्राथमिक जांच में यह पता चला है कि कैदी परिवार बढ़ा सकता है।

Loading...
Share it
Top