Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश उपचुनावः वीवीपैट मशीन ने बढ़ाई वोटरों की मुश्किल, वोटिंग में देरी को लेकर मतदाता नाराज़

मध्यप्रदेश उपचुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीनो के द्वारा चुनाव जारी।

मध्यप्रदेश उपचुनावः वीवीपैट मशीन ने बढ़ाई वोटरों की मुश्किल, वोटिंग में देरी को लेकर मतदाता नाराज़

इस बार मध्य प्रदेश उपचुनाव में निष्पक्ष चुनाव व मतदातों की सुविधा के लिए चुनाव आयोग ने ईवीएम के साथ-साथ वीवीपैट मशीन के इस्तेमाल की भी मंजूरी दी हैं।

लेकिन शुरुआती दौर की वोटिंग में वीवीपैट मशीन में आई तकनीकी गड़बड़ी के चलते मतदातों के लिए कुछ समय के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी थी।

जिसे बाद में ठीक कर मतदान की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया गया हैें। मतदाता सुबह से मतदान केन्द्रों के बाहर जुटने लगे हैं। इस बार चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन के इस्तेमाल को लेकर वोटरों में काफ़ी उत्साह देखने को मिल रहा हैं।

ये भी पढ़ेःAMU के छात्रसंघ सचिव ने किया राष्ट्रपति का विरोध, कहा-संघी मानसिकता वाले कैंपस में आए

शुरुआत में वीवीपैट मशीन के सही से काम नहीं करने के चलते वोटरों को मतदान केन्द्र के भार काफी इंतजार करना पड़ा। जिसके चलते वोटरों में प्रशासन की बदइंतजामी को लेकर काफी रोष हैं।

वहीं प्रशासन का कहना है कि कुछ मशीनों में कुछ दिक्कत जरूर आई थी। जिसे समय रहते दूर कर दिया गया है, और अब मतदान सुचारू रूप से बिना किसी बाधा के चालू हैं।

ये भी पढ़ेः
उज्जवला योजना महिला सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम- राष्ट्रपति कोविंद

दरअसल पूरा मामला मध्यप्रदेश के कोलारस और मुंगावली विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव को लेकर हैं। जहां मध्यप्रदेश के कोलरस व मुंगावली विधानसभा में उपचुनाव होने हैं। वोटिंग कि शुरुआत में कोलारस में 15 और मुंगावली में 17 वीवीपैट मशीनों ने तकनीकि गड़बड़ी के चलते काम करना बंद कर दिया था।

जिसके चलते मतदातों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। लोगो ने इसे लेकर प्रशासन में शिकायत दर्ज कराई। वहीं मध्य प्रदेश की मुख्य चुनाव आयुक्त सलीना सिंह ने शुरुआत में वीवीपैट मशीनों में खराबी की बात मानी।

उन्होंने कहा कि मतदान की शुरुआत में कुछ मशीनों में तकनीकी गड़बड़ी के चलते मतदातों को परेशानी जरुर हुई हैं। जिसे समय रहते ठीक कर लिया गया है, और अभी दोनों केन्द्रों में मतदान सुचारु रूप से चालू हैं।

ये भी पढ़ेःसीएम योगी आज बरसाना में खेलेंगे लट्ठमार होली, कहा- कृष्णनगरी को बनाएंगे अंतर्राष्ट्रीय स्तर का पर्यटन स्थल

दरअसल केन्द्र और राज्य की मौजूदा बीजेपी सरकार पर चुनावों के दौरान ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ का आरोप लगता रहा हैं। जिस कारण इस बार चुनाव आयोग द्वारा मध्य प्रदेश उपचुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन के द्वारा चुनाव कराने का फ़ैसला लिया गया।

चुनाव में वीवीपैट के इस्तेमाल को लेकर इसलिए तरजी दी जा रही है, क्योंकि वोटर वीवीपैट मशीन के जरिए यह जान सकता है कि उन्होंने जो वोट दिया है वह सही है या नहीं, इसके लिए उसे सात सैकेंड का समय मिलता है।

Next Story
Top