Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाकिस्तान पर हुई ''एयर स्ट्राइक का सदमा'' भारत में कुछ लोगों को लगा है: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक का सुबूत मांगने वालों पर जमकर बरस रहे हैं। मध्य प्रदेश में मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जिस पार्टी ने दशकों तक इस देश में राज किया वो आज हमारी सेना पर शक कर रही है।

पाकिस्तान पर हुई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक का सुबूत मांगने वालों पर जमकर बरस रहे हैं। मध्य प्रदेश में मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जिस पार्टी ने दशकों तक इस देश में राज किया वो आज हमारी सेना पर शक कर रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश के धार में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकियों और आतंक के सरपरस्तों को डंके की चोट पर कह दिया है कि अब उनके सामने सुधरने के अलावा कोई चारा नहीं।
और अगर वो फिर भी नहीं सुधरेंगे तो क्या होगा ये भी उन्हें बता दिया गया है। पूरी दुनिया ने कह दिया है कि हिंदुस्तान ने जो किया वो सही किया लेकिन हमारे देश का दुर्भाग्य है कि यहाँ कुछ ऐसे लोग है जिन्हें ऐसा नहीं लगता।
जिस पार्टी ने सबसे लंबे समय तक देश पर शासन किया, जिस पार्टी के नेताओं ने हमारी पराक्रमी सेना के हाथ बांधकर रखे, उसके नेता अब हमारे वीर जवानों के सामर्थ्य पर सवाल उठा रहे हैं। इसमें भी मध्य प्रदेश के एक नेता बहुत आगे नज़र आ रहे हैं।
आज सुबह ही इन महाशय ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले को दुर्घटना करार दिया है, यानि एक्सीडेंट। यानि एक हादसा, जो बस हो गया। यही इनकी मानसिकता है। आतंकियों को बचाने के लिए, उनका पक्ष लेने के लिए अब ये उनके द्वारा किए गए हमले को, सिर्फ एक हादसा बता रहे हैं।
आतंकियों को बचाने के लिए, उनका पक्ष लेने के लिए अब वो उनके द्वारा किये गए हमले को एक हादसा कह रहे है। नामदार परिवार के ये वही खास सिपहसालार हैं, जिन्हें आतंक को बढ़ावा देने वाले शांति दूत नजर आते हैं।
ये वही महोदय हैं, जिनको दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी ओसामा भी शांतिदूत लगता था। यही वो महाशय हैं जिन्होंने मुंबई के दर्दनाक आतंकी हमले में भी पाकिस्तान को क्लीन चिट दे दी थी और जांच की दिशा को ही भटकाने का प्रयास किया था।
क्या ऐसी कांग्रेस से हम उम्मीद कर सकते हैं कि वो आतंक के सरपरस्तों को खत्म करेगी? नहीं। आतंकवाद के खिलाफ नरमी के इसी कांग्रेसी रवैये की वजह से पहले आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब नहीं मिल पाया।
एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुई लेकिन सदमा भारत में बैठे कुछ लोगों को लगा है। भारत भर में महा-मिलावट करने वाले लोग अब अंतर्राष्ट्रीय महा-मिलावट करने में लगे हैं। सिर्फ अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए पाकिस्तान के साथ मिलकर महा-मिलावट कर रहे हैं।
उन्होंने आगे कहा कि यहां ये लोग मोदी को गाली देते हैं, और वहां पाकिस्तान में इनके लिए तालियां बजती हैं। वहां के अखबारों की हेडलाइंस इनके बयानों से भरी पड़ी हैं, वहां के टीवी चैनलों पर इनके ही चेहरे दिखाई पड़ते हैं।
जब एयर-स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की बोलती बंद हो गई, पूरे विश्व में अलग थलग पड़ गया तो उसकी इज्जत बचाने के लिए यही महा-मिलावटी लोग सामने आए। कोई सबूत मांगने लगा, तो कोई आतंकियों की लाशों की संख्या पूछने लगा और तो और ये लोग पाकिस्तान को ही शांति का दूत बताने लगे।
आपने देखा होगा कि यह अंतर्राष्ट्रीय महा-मिलावट एक सुर में राग अलाप रही है। आज जब आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई में देश एक हो रहा है तब ये लोग देश को भ्रमित कर इस लड़ाई को कमजोर करना चाहते हैं।
अपनी योजनाओं को बताते हुए पीएम मोदी बोले हर क्षेत्र में हमारी सरकार पूरी ईमानदारी से काम कर रही है। गरीबों को पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज सुनिश्चित करने वाली दुनिया की सबसे बड़ी आयुष्मान भारत योजना हमारी सरकार ने लागू की है।
देश के इतिहास में पहली बार हर गरीब परिवार को मुफ्त में गैस सिलेंडर देने की योजना हमारी सरकार ने बनाई। देश के इतिहास में गरीब परिवारों को अपना शौचालय देने के लिए स्वच्छ भारत अभियान हमने शुरू किया।
आज मैंने पीएम श्रम योगी मानधन योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत मेहनत से अपनी आजीविका कमाने वाले करीब 42 करोड़ कामकार भाई-बहनों को 60 साल बाद 3,000 रुपये की पेंशन मिलेगी।
किसानों के नाम पर इन्होंने वोट मांगे थे। इन्होंने कहा था 10 दिन के भीतर पूरा कर्ज माफ कर देंगे। जिनको ये नहीं पता कि पेड़ और झाड़ में क्या फर्क होता है, वो खेती किसानी का विशेषज्ञ बनकर यहां के लोगों से बड़े-बड़े वायदे कर रहे थे।
हमारी सरकार ने आदिवासियों के हित को भी हमेशा सर्वोपरि रखा है। वनधन योजना के माध्यम से ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि, जंगल से जो आप उपज लेते हैं उसकी बेहतर कीमत आपको मिल पाए।
वन उपज में मूल्य वृद्धि करने के लिए वनधन केंद्र बनाए जा रहे हैं। देश की आज़ादी से लेकर देश के विकास में आदिवासी नायकों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। भाजपा सरकार, इस योगदान को सम्मान देने का काम भी कर रही है। आज़ादी की लड़ाई में जिन आदिवासी बेटे-बेटियों ने बलिदान दिया है, उनकी याद में देशभर में स्मारकों का निर्माण हो रहा है।
Share it
Top