Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब ट्रेनों में नहीं मिलेगा खराब खाना, रेल मंत्रालय ने बनाए नए नियम

यात्रियों को यात्रा के दौरान महंगी दामों पर खाने-पीने की वस्तुएं न खरीदनी पड़े इसके लिए उनके मूल्यों के प्रति भी सख्ती बरती जाएगी।

अब ट्रेनों में नहीं मिलेगा खराब खाना, रेल मंत्रालय ने बनाए नए नियम
नई दिल्ली. खराब खाने की शिकायतों के चलते यात्रियों की भारी नाराजगी झेल रहा इंडियन रेलवे नई कैटरिंग पॉलिसी लाने जा रहा है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु जल्द रेलवे की नई कैटरिंग पॉलिसी की घोषणा करने वाले हैं।
माना जा रहा है कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु साफ और स्वच्छ भोजन की यात्रियों की मांग पर खरा उतरने वाली नीति का खाका बताएंगे। इतना ही नहीं यात्रियों को यात्रा के दौरान महंगी दामों पर खाने-पीने की वस्तुएं न खरीदनी पड़े इसके लिए उनके मूल्यों के प्रति भी सख्ती बरती जाएगी।
बता दें की प्रभु की नई नीति के तहत रेवले ट्रेनों में 7 रुपए में टी बैग वाली चाय और 15 रुपए में एक लीटर मिनरल वाटर के रेट तय करने वाला है।
इतना ही नहीं इस नीति के तहत ट्रेन में भोजन बनाने और वितरण करने से जुड़े कामकाज को अलग करने जा रहा है। नई नीति के तहत अत्याधुनिक भोजनालयों में खाना तैयार किए जाने और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के सेवा प्रदाताओं के जरिए यात्रियों तक पहुंचाने की व्यवस्था होगी। इसका मकसद मार्केट की प्रतिष्ठित फूड चेन कंपनियों को जोड़ना है।
आईआरसीटीसी को सात साल बाद फिर जिम्मेदारी
नई नीति से रेलवे की एक यूनिट आईआरसीटीसी को सात साल के बाद फिर से ज्यादातर ट्रेनों में भोजन उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी मिल जाएगी। तत्कालीन रेल मंत्री ममता बनर्जी ने साल 2010 में आईआरसीटीसी को इस जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया था। अपने आखिरी रेल बजट में सुरेश प्रभु ने कहा था, 'आईआरसीटीसी चरणबद्ध तरीके से कैटरिंग सर्विस मैनेज करने लगेगी।'
33 फीसदी स्टॉल्स महिलाओं के होंगे
रेलवे कैटरिंग पॉलिसी 2017 आईआरसीटीसी को रेलवे बोर्ड की सलाह पर भोजन का मेन्यू और कीमत भी तय करने में सक्षम होगी। सामाजिक दायित्व को पूरा करने के लिए नई नीति में सभी स्टेशनों पर 33 प्रतिशत स्टॉल्स महिलाओं को आवंटित किए जाएंगे।
रेल मंत्रालय के सूत्रों ने बताया, 'विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए कैटरिंग सर्विसेज में स्वयं सहायता समूहों को भी जोड़ा जाएगा।' इनके मुताबिक, सभी स्टेशनों पर ओपन टेंडर के तहत दूध के स्टॉल्स भी अलॉट किए जाएंगे।
इस तरह हैं रेट, देना होगा बिल
रेलवे की ओर से यात्रियों से ये भी अपील की है कि वो जो भी खाने-पीने की वस्तु यात्रा के दौरान खरीद रहे हैं उसका बिल जरूर लें। ट्वीट के मुताबिक, वेज ब्रेकफास्ट की कीमत 30 और नॉनवेज की कीमत 35 रुपए है। वेज लंच और डिनर की कीमत 50 रुपए और नॉनवेज लंच और डिनर की कीमत 55 रुपए है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top