Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चंद्रग्रहण 2018: 150 साल बाद ''चंदा मामा'' के ''अनूठे नजारे'' लुभाते रहे रात तक

गुवाहाटी में सबसे पहले दिखा ग्रहण, मुंबई में सबसे बाद में दिखाई दिया अनूठी खगोलीय घटना का नजारा।

चंद्रग्रहण 2018: 150 साल बाद

वर्ष 2018 का पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी को दिखाई दिया। यह घटना इसलिए भी खास है कि इस बार का चंद्रग्रहण तीन रंगों में नजर आया।

खगोल शास्त्रियों के मुताबिक ऐसी घटना 150 सालों में पहली बार हुई। लोगों के बीच इसे लेकर काफी उत्सुकता देखी गई। चंद्रग्रहण के मौके पर देशभर के मंदिरों के कपाट भी बंद रखे गए हैं।

चंद्रग्रहण के दौरान चांद लाल दिखता है जिसे ब्लड मून या रक्तिम चांद कहा जाता है। चंद्रग्रहण शाम 4.21 बजे शुरू हुआ, जब चांद ने पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश किया। शाम 6.21 बजे पृथ्वी की छाया चांद पर नजर आई, जिसकी वजह से अंधेरा छा गया।

इसे भी पढ़ें- चंद्र ग्रहण 2018: इन 9 राशियों पर अगले 30 दिनों तक रहेगा अशुभ प्रभाव, जानिए अपनी राशि

इस दौरान सुपर मून, ब्लड मून और ब्लू मून देखा गया। शाम को 7.37 बजे के बाद रक्तिम चांद (ब्लड मून) नजर आया। इसके बाद आकाश में ब्लू मून का अनोखा नजारा दिखा।

रात 9.38 बजे चंद्रग्रहण समाप्त होगा, जब चांद धरती की छाया से निकल जाएगा। मुंबई में ग्रहण के दौरान आसमान में ब्लड मून दिखा। दिल्ली में भी ब्लू मून की अनूठी खगोलीय घटना के लोग गवाह बने।

पूर्वोत्तर के राज्य असम की राजधानी गुवाहाटी में चंद्रग्रहण देखा गया। पंजाब के लुधियाना शहर में भी ब्लू, ब्लड और सुपर मून को लेकर लोगों के बीच दिलचस्पी नजर आई।

Next Story
Share it
Top