Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

9 साल बाद जेल से रिहा हुए कर्नल पुरोहित, बोले- करता रहूंगा देश की सेवा

पहले उच्च न्यायालय ने पुरोहित को जमानत देने से इनकार कर दिया था।

9 साल बाद जेल से रिहा हुए कर्नल पुरोहित, बोले- करता रहूंगा देश की सेवा
X

मालेगांव ब्लास्ट के आरोप में लगभग 9 साल जेल में बंद लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत प्रसाद पुरोहित आज जेल से रिहा हो गए हैं।

लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित ने कहा कि मैं सेना एक बार फिर ज्वाइन करूंगा और लगातार देश की सेवा में तत्पर रहूंगा।

गौरतलब है कि 21 अगस्त को उच्चतम न्यायालय ने वर्ष 2008 में मालेगांव में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट मामले में आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत प्रसाद पुरोहित को सोमवार को जमानत दे दी थी।

इसे भी पढ़ें: मालेगांव ब्लास्टः कर्नल पुरोहित की जमानत से गरमाई राजनीति

न्यायमूर्ति आर के अग्रवाल और न्यायमूर्ति एएम सप्रे की पीठ ने बंबई उच्च न्यायालय के फैसले को दरकिनार करते हुए यह फैसला सुनाया था।

उच्च न्यायालय ने पुरोहित को जमानत देने से इनकार कर दिया था। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि उसने पुरोहित को कुछ शर्तों के साथ जमानत दी है।

पुरोहित ने 17 अगस्त को उच्चतम न्यायालय को बताया था कि वह ‘राजनीतिक खेल’ में फंस गए हैं और नौ वर्षों से जेल में बंद हैं। पुरोहित ने उन्हें जमानत नहीं देने के बंबई उच्च न्यायालय के फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी थी।

इसे भी पढ़ें: मालेगांव ब्लास्टः कर्नल पुरोहित को मिली जमानत, 9 साल बाद आएंगे जेल से बाहर

29 सितंबर 2008 को हुआ था विस्फोट

उत्तरी महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील शहर मालेगांव में 29 सितंबर, 2008 को हुए बम विस्फोट में सात लोग मारे गए थे।

विशेष मकोका अदालत ने पहले फैसला दिया था कि एटीएस ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, पुरोहित और नौ अन्य लोगों के खिलाफ गलत तरीके से मकोका कानून लगाया है।

चार हजार पन्नों के आरोपपत्र में यह आरोप लगाया गया है कि मालेगांव को मुसलमान बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण विस्फोट के लिए चुना गया था।

इसे भी पढ़े: 10 बिंदुओं में जानिए क्या था मालेगांव ब्लास्ट का पूरा मामला

जमानत पर कांग्रेस-भाजपा भिड़ीं

कर्नल पुरोहित को जमानत मिलने का फैसला सामने आते ही कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर हमला बोल दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि सारे ब्लास्ट केसों में भाजपा की सरकार संघ से जुड़े आरोपियों को बचा रही है।

उन्होंने एनआईए को भी कठघरे में खड़ा किया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा कि बेल मिलने का यह मतलब नहीं है कि आपको बरी कर दिया गया है और आप निर्दोष हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top