Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शीतकालीन सत्र: लोकसभा स्पीकर ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, संसद को सुचारू रूप से चलाने पर होगा मंथन

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने 11 दिसंबर से शुरु होने जा रहे शीतकालीन सत्र से पहले संसद को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

शीतकालीन सत्र: लोकसभा स्पीकर ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, संसद को सुचारू रूप से चलाने पर होगा मंथन

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने 11 दिसंबर से शुरु होने जा रहे शीतकालीन सत्र से पहले संसद को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

सुमित्रा महाजन सत्र से पहले संसद को सुचारू रूप चलाने के लिए सभी राजनीतिक दलों के साथ मंथन करेंगी। इससे पहले राज्य सभा के सभापति एम वैंकिया नायडू ने भी 10 दिसंबर को शीतकालीन सत्र पर चर्चा के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

संसद के शीतकालीन सत्र में विपक्षी पार्टियां राफेल, जीएसटी, बेरोजगारी और किसान कर्ज माफी जैसे मुद्दे उठा सकते हैं। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि संसद का 11 दिसंबर से होने वाला शीतकालीन सत्र काफी हंगामेदार हो सकता है।

कुछ दिन पहले लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि हम लंबे समय से कह रहे हैं कि राफेल डील एक बड़ा घोटाला है। उन्होंने कहा कि हम इस मुद्दे पर विपक्ष को एकजुट कर इसे संसद में उठाएंगे।

राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पिछले कई दिनों से पीएम मोदी और रिलायंस डिफेंस पर हमला कर रहे हैं।

विपक्षी एकजुटता की कोशिश

शीतकालीन सत्र में संसद में मोदी सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दलों ने भी एक अहम बैठक बुलाई है। इस बैठक में कई विपक्षी दल शामिल हो सकते हैं।

संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से 8 जनवरी 2019 तक चलेगा। ये पूरा सत्र 29 दिनों का होगा। इस बार विपक्षी दल केंद्र सरकार को राफेल, जीएसटी, किसान समस्या समेत कई मुद्दों पर घेरने की योजना बनाएगी।

Share it
Top