logo
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019 : रॉबर्ड वाड्रा केस के कारण प्रियंका गांधी की राजनीति छवि पर असर

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार सौंपा हैं। यानी प्रियंका गांधी वाड्रा के बहाने कांग्रेस ने पीएम मोदी को वाराणसी सीट और यूपी के सीएम योगी की सीट गोरखपुर पर सीधी चुनौती दी है।

लोकसभा चुनाव 2019 : रॉबर्ड वाड्रा केस के कारण प्रियंका गांधी की राजनीति छवि पर असर

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार सौंपा हैं। यानी प्रियंका गांधी वाड्रा के बहाने कांग्रेस ने पीएम मोदी को वाराणसी सीट और यूपी के सीएम योगी की सीट गोरखपुर पर सीधी चुनौती दी है। राहुल गांधी प्रियंका गांधी वाड्रा को इस चुनाव में मास्टर स्ट्रोक की तरह पेश कर रहे हैं। प्रियंका की खास बात में एक है कि वह उत्तर प्रदेश में उनकी पहचान सभी कांग्रेस नेताओं के बीच में है। लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार सौंपे जाने के महज कुछ हफ्तों के भीतर, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में उनके पति रॉबर्ड वाड्रा से गहन पूछताछ गई। जब पूछताछ के लिए रॉबर्ड वाड्रा ईडी दफ्तर पहुंचे तो उनकी पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा भी उन्हें छोड़ने की लिए पहुंची थी। हालांकि रॉबर्ट वाड्रा ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों से इनकार किया और कांग्रेस की तरफ से उनकी पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि वह अपने परिवार के साथ खड़ी हैं।

रॉबर्ड वाड्रा केस और प्रियंका गांधी की राजनीति छवि पर असर

यूपीए की चेरय पर्सन सोनिया गांधी के दामाद और प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। रॉबर्ट वाड्रा उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद के रहने वाले हैं। चूंकि प्रियंका गांधी राजनीति में सीधे-सीधे कभी नहीं कूदीं इस वजह से उनको लेकर कोई विवाद नहीं है। लेकिन उनके पति रॉबर्ड वाड्रा पर भ्रष्टाचार के आरोप जरूर हैं। रॉबर्ट वाड्रा पर डीएलएफ डील को लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। इसके अलावा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी रॉबर्ड वाड्रा लंदन और भारत में उनकी संपत्ति को लेकर (मनी लॉन्ड्रिंग) मामले में पूछताछ कर रही है। इसका असर उस समय देखने को मिला जब कांग्रेस मुख्यालय से प्रियंका के पोस्टरों को हटाया गया। इन पोस्टर्स को लेकर भाजपा ने भी निशना साधा था। वहीं भाजपा ने रॉबर्ड वाड्रा पर 2009 में पेट्रोलियम डील और डिफेंस डील के जरिए दलाली करने का आरोप भी लगाया लेकिन अभी तक यह साबित नहीं हुआ है। गौर करने वाली बात ये है कि प्रियंका गाधी ने सक्रिय राजनीति में कदम तो रख लिया है पर देखना अब यह होगी कि क्या रॉबर्ड वाड्रा के आरोप प्रियंका के लिए मुश्किलें करेंगे या नहीं? ऐसा नहीं है कि कांग्रेस नेताओं को आभास नहीं था कि प्रियंका के लिए रॉबर्ट वाड्रा मुसीबत बन सकते हैं। इसके बाद भी यह उनका मानना है प्रियंका गांधी के आने से जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं में जोश जरूर आएगा, जोकि लखनऊ में हुए रोड में देखने को भी मिला था। प्रियंका गांधी को आम लोगों के बीच रहना, खाना-पीना, और मिलना झुलना अच्छा लगता है। प्रियंका गांधी जिन कार्यकर्ताओं से सीधे मिलती हैं वे उन्हें जानती हैं और हाल चाल लेती रहती है। इस खासियत के चलते प्रियंका गांधी लोगों के बीच लोकप्रिय बनी हैं। प्रियंका गांधी की तुलना उनकी दादी इंदिरा गांधी से की जाने लगी हैं क्योंकि वे अपनी दादी के नक्शेकदम पर चलते हुए लोगों से सीधे संवाद करती हैं। कांग्रेस कार्यकर्ता प्रियंका गांधी में इंदिया गांधी की छवि देखते हैं।

प्रियंका गांधी की राजनीति छवि पर नहीं पड़ेगा असर!

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 में प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी है। सक्रिय राजनीति में प्रवेश करने के बाद प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लगभग 12 किलोमीटर लंबा मेगा रोड शो किया। उनके रोड में जिस तरह का जनसैलाब देखने को मिला था उसे देखकर अंदाज लगाया जा सकता है कि जब आगाज ऐसा है, तो अंजाम कैसा होगा। इसी को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनके पति के पर लगे आरोपों पर प्रियंका गांधी की छवि पर असर नहीं पड़ेगा? अगर एक प्रदेश के प्रभारी के रोड शो में इस तरह का जनसैलाब देखने को मिला तो यह मानने में कोई ऐतराज़ नहीं होना चाहिए कि वह राजनेता वाकई ख़ास है। लखनऊ में उनके रोड शो से पहले जिस तरह से प्रियंका गांधी के स्वागत में पोस्टर्स लगाए गए, उससे साफ जाहिर है कि कांग्रेसी उन्हें इंदिरा गांधी की तरह आगे बढ़ता देखना चाहते हैं। अब तो यह देखना वाकि है कि क्या प्रियंका गांधी राजनीति में कमाल दिखा पाएंगी या नहीं। वह कांग्रेस पार्टी को कितने आगे ले जा पाती हैं। ये सवाल बाद के हैं। बता दें कि रॉबर्ट वाड्रा ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों से इनकार किया और कांग्रेस की तरफ से उनकी पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि वह अपने परिवार के साथ खड़ी हैं।

Share it
Top