Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विपक्षी एकता को मात देने के लिए पीएम मोदी ने बनाया A,B,C प्लान

हाल में देश की चार लोकसभा और 10 विधानसभा की सीटों पर हुए उपचुनाव में विपक्ष ने भाजपा को करारा झटका दिया।

विपक्षी एकता को मात देने के लिए पीएम मोदी ने बनाया A,B,C प्लान

2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं। हाल में देश की चार लोकसभा और 10 विधानसभा की सीटों पर हुए उपचुनाव में विपक्ष ने भाजपा को करारा झटका दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए विपक्षी एकता परेशानी खड़ी कर सकती है। इसको ध्यान में रखते हुए विपक्षी एकता को मात देने के लिए पीएम मोदी ने प्लान ए,बी,सी तैयार किया है।

मोदी का प्लान ए

यूपी में मोदी ने दौरे भी बढ़ा दिए हैं। हर महीने मोदी कोई न कोई कार्यक्रम यूपी में कर रहे हैं। अमित शाह सोशल मीडिया टीम को दुरुस्त करने में जुटे हैं। हर बूथ के लिए पार्टी साइबर योद्धा तैयार कर रही है। यूपी में अगर भाजपा को सीटों का नुकसान होता है तो पार्टी इसकी भरपाई के लिए प्लान बी पर भी कर रही है।

मोदी का प्लान बी

प्लान बी ये है कि यूपी से अगर सीटों का नुकसान होता है तो फिर इसकी भरपाई पश्चिम बंगाल, ओडिशा और पूर्वोत्तर के आठ राज्यों से करने की कोशिश होगी। इन राज्यों में लोकसभा की कुल 87 सीटें हैं। साल 2014 में भाजपा को इनमें से सिर्फ 14 सीटें मिली थी।

भाजपा इस बार बंगाल पर पूरा फोकस कर रही है। अमित शाह से लेकर पार्टी की पूरी टीम बंगाल की 42 सीटों में से 23 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर काम कर रही है। ओडिशा में तो खुद पुरी सीट से पीएम मोदी के लड़ने की चर्चा है ताकि इस इलाके में भाजपा के पक्ष में गोलबंदी हो सके। इसके अलावा भाजपा ने एक तीसरा प्लान भी बना रखा है।

मोदी का प्लान सी

प्लान सी ये है कि समंदर किनारे वाले राज्यों में पार्टी नए साथी को तलाश रही है। दक्षिण भारत में भाजपा इसके लिए बारीकी से काम कर रही है। तमिलनाडु में एआईएडीएमके, तेलंगाना में टीआरएस और आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस के साथ भाजपा तालमेल की कोशिश में है। ऐसा होता है तो फिर दक्षिण भारत की सीटों के जरिये उत्तर भारत के नुकसान की भरपाई होगी।

यूपी में एसपी-बीएसपी में दोस्ती

मोदी को हराने के लिए यूपी में सालों की दुश्मनी भूलाकर एसपी-बीएसपी की दोस्ती हो रही है, वहीं कर्नाटक में भाजपा को रोकने के लिए जेडीएस ने कांग्रेस से हाथ मिलाया, बंगाल में ममता और लेफ्ट साथ आने के संकेत दे रहे हैं और झारखंड में जेएमएम और जेवीएम ने हाथ मिलाया है। भाजपा को पता है कि एसपी, बीएसपी के साथ आने से यूपी में उसे नुकसान होगा। लेकिन पार्टी जीत के लिए सिक्के के एक तरफ विकास को रख रही है तो दूसरी ओर जातीय समीकरण को साध रही है।

Next Story
Top